हिन्दी व्याकरण – पर्यायवाची शब्द

( श )

शेर-हरि, मृगराज, व्याघ्र, मृगेन्द्र, केहरि, केशरी, वनराज, सिंह, शार्दूल, हरि, मृगराज।
शिव- भोलेनाथ, शम्भू, त्रिलोचन, महादेव, नीलकंठ, शंकर।
शरीर- देह, तनु, काया, कलेवर, वपु, गात्र, अंग, गात।
शत्रु- रिपु, दुश्मन, अमित्र, वैरी, प्रतिपक्षी, अरि, विपक्षी, अराति।
शिक्षक- गुरु, अध्यापक, आचार्य, उपाध्याय।
शेषनाग- अहि, नाग, भुजंग, व्याल, उरग, पन्नग, फणीश, सारंग।
शुभ्र- गौर, श्वेत, अमल, वलक्ष, धवल, शुक्ल, अवदात।
शहद- पुष्परस, मधु, आसव, रस, मकरन्द।
शंका- 1. संदेह, शक, आशंका, अंदेशा, अनिर्णय 2. भय, डर, खौफ।
शंकित- 1. शंकाशील, संशययुक्त, आशंकाग्रस्त, संदेहास्पद 2. भयभीत, डरपोक, भयाकुल।
शकुन- सगुन, शुभ मुहूर्त, शुभसूचक चिन्ह।
शक्ति- बल, ताकत, जोर, क्षमता।
शक्तिशाली- बलवान, ताकतवर, जोरदार, ओजस्वी, समर्थ।
शठ- धूर्त, चालाक, लुच्चा, बदमाश, दुष्ट, कपटी।
शतक- शताब्दी, सदी, सौ, सैकड़ा।
शनैः- धीरे, आहिस्ता, हौले।
शनैश्चर- शनि, छायासुत, रविनंदन, मंदग्रह।
शपथ- सौंगंध, कसम, प्रतिज्ञा, प्रण।
शब्द- स्वर, ध्वनि, संख, घोष, लफ्ज, कथन।
शब्दकोश- शब्द संग्रह, शब्द संकलन, शब्दावली, शब्दार्थिका।
शमन- दमन, नियंत्रण, काबू, रोक।
शरण- आश्रय, रक्षा, बचाव, छाँह, छत्रछाया।
शराब- मदिरा, दारू, वारुणी, मय, सुरा।
शराबखाना- मदिरालय, दारू-खाना, मयखाना, सुरालय, सुरा-सदन, हौली।
शराबी- मद्यप, पियक्कड़, दारूबाज, मदिरासेवी।
शरीफ- भला, सज्जन, कुलीन, शिष्ट, विनीत।
शर्त- बाजी, दाँव, प्रतिबंध, अनुबंध।
शर्म- लाज, लज्जा, हया, संकोची, शर्मिन्दगी।
शर्मीला- लज्जालु, लज्जाशील, संकोची, लजीला, एकांतप्रेमी।
शव- मुर्दा, लाश, मिट्टी, लोथ, पर्थिव-शरीर।
शस्त्र- आयुध, अस्त्र, हथियार, युद्ध-साम्रगी।
शस्त्रधारी- सशस्त्र, हथियारबंद, सायुध।
शांत- चुप, मौन, गंभीर, संवेगहीन, आवेशरहित, खामोश, स्थिर।
शादी- विवाह, ब्याह, पाणिग्रहण, परिणय, गठबंधन।
शानदार- ऐश्वर्यशाली, वैभवशाली, भव्य, दिव्य, विलासपूर्ण, शोभनीय।
शाप- अभिशाप, बद्दुआ, अभिशाप, श्राप।
शामत- दुर्भाग्य, अभाग्य, बदकिस्मती, विपत्ति, दुर्दशा, खराबी।
शायरी- काव्य, कविता, पद्य, छंद।
शालीन- शिष्ट, सभ्य, भद्र, विनीत, नम्र।
शाश्वत- नित्य, सदैव, निरन्तर, लगातार, सर्वकालिक, चिरस्थायी, अविरत, अक्षम।
शासन- 1. आज्ञा, आदेश, हुक्म 2. हुकूमत, प्रशासन, अनुशासन, प्रभुत्व, स्वामित्व।
शिकायत- गिला, शिकवा, निंदा, बुराई।
शिकार- आखेट, मृगया, अहेर।
शिक्षक- अध्यापक, उपदेशक, गुरु, आचार्य, मास्टर, टीचर।
शिक्षा- 1. पढ़ाई-लिखाई, शिक्षण, विद्या 2. उपदेश, ज्ञान, सबक, सीख 3. परामर्श, सलाह, राय।
शिखर- शिरा, चोटी, शिखा, श्रृंग।
शिखा- चोटी, चुंडी।
शिथिल- 1. सुस्त, धीमा, मंद, ढीला, आलसी 2. दुर्बल, कमजोर।
शिरा- नाड़ी, नस, धमनी।
शिला- पाषाण, सिल, पत्थर, चट्टान।
शिल्पी- वास्तुशास्त्री, कारीगर, शिल्पकार, दस्तकार।
शिशिर- जाड़ा, शीतकाल, पाला, सर्दी, ठंडी।
शिशु- बालक, बच्चा, बाल, लड़का।
शीघ्र- तुरन्त, झटपट, तत्काल, फौरन, चटपट, जल्दी।
शीर्ष- 1. सिर, कपाल 2. सिरा, चोटी, शिखर, शिखा।
शुक्ल- उजला, सफेद, श्वेत, उज्ज्वल।
शुचि- पवित्रता, शुद्धता, स्वच्छ्ता, सफाई, पवित्र, शुद्ध, निर्मल।
शुद्ध- विशुद्ध, साफ, चोखा, निर्दोष, स्वाभाविक, पवित्र, निर्मल।
शुद्धि- स्वच्छ्ता, सफाई, पवित्रता, निर्मलता।
शुभ- 1. शिव, शुभकर, मंगल, माँगलिक, कल्याणकारी 2. मंगल, कल्याण, भलाई।
शुरुआत- प्रारम्भ, पहल, श्रीगणेश।
शुष्क- 1. सूखा, रसहीन, नीरस 2. स्नेहरहित, ह्रदयहीन, शून्य।
शून्य- 1. खाली जगह, रिक्त स्थान 2. एकांत स्थान, निर्जन स्थान, जनशून्य स्थान।
शूर- वीर, बहादुर, योद्धा, शूरवीर, साहसी।
शूल- पीड़ा, दर्द, चुभन।
श्रृंखला- 1. क्रम, सिलसिला 2. श्रेणी, कतार, पंक्ति।
श्रृंगार- साज, सजावट, ठाट, सिंगार, अलंकरण, रूपसज्जा।
शेखर- शीर्ष, सिर, खोपड़ी, कपाल, मूंड, मस्तक।
शेखी- गर्व, घमंड, अभिमान, ऐंठ, शान, अकड़।
शैली- चाल, ढंग, प्रणाली, तर्ज, तरीका, विधि।
शोध- 1. दुरुस्ती, शुद्धि 2. जाँच, परीक्षा, पड़ताल, छानबीन।
शोभन- 1. सुन्दर, मनमोहक, मनोहर, सुहावना सजीला 2. उत्तम, श्रेष्ठ, उचित, उपयुक्त।
शोभा- श्री, सुषमा, विभा, आभा, सौंदर्य, सुन्दरता, चमक, सजावट।
श्मशान- मरघट, मसान, मुरदघट्टा, मृतकदाह स्थान, कब्रिस्तान।
श्रमिक- श्रमजीवी, मजदूर, कामकर, मेहनतकश।
श्री- 1. धन, संपत्ति, वैभव, ऐश्वर्य 2. शोभा, सौंदर्य, रमणीयता 3. कांति, चमक, आभा, प्रभा, चमक।
श्रेय- अच्छा, बढ़िया, बेहतर, श्रेष्ठ, उत्तम, उत्कृष्ट।
श्लाघा- प्रशंसा, तारीफ, स्तुति, बड़ाई, खुशामद, चापलूसी।
श्रेष्ठ- अद्वितीय, उत्कृष्ट, उत्तम, सर्वोत्तम, अनुपम।
श्लाघा- प्रशंसा, तारीफ, स्तुति, बड़ाई, खुशामद, चापलूसी।
श्वास- प्राण, साँस, दम, संजीवनी, वायु।
श्वेत- उजला, उज्ज्वल, गोरा, साफ, दुग्धवत, रजतसदृश।

( ष )

षंड- हीजड़ा, नपुंसक, नामर्द।
षंजन- आर्लिगन, मिलन।
षंडाली- तालाब, ताल।
षटक- छः गुना, छः में खरीदा हुआ, छठी बार होने या किया जाने वाला, छः की संख्या।
षड्यंत्र- साजिश, कुचक्र, कूट-योजना।
षोडशी- दस या बारह महाविद्यालयों में से एक, सोलह वर्ष की स्त्री, सोलह वस्तुओं का वर्ग।
षडानन- षटमुख, कार्तिकेय, षाण्मातुर।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.