रीतिकाल : हिंदी साहित्य का इतिहास

रीतिकाल : हिंदी साहित्य का इतिहास उत्तर-मध्यकाल का नामकरण विवादास्पदमिश्र बंधु – ‘अलंकृत काल’, रामचन्द्र शुक्ल- ‘रीतिकाल’ ,विश्वनाथ प्रसाद मिश्र – ‘श्रृंगार काल’ रीतिकाल के उदय आचार्य रामचन्द्र शुक्ल : ‘इसका कारण जनता की रूचि नहीं, आश्रयदाताओं की रूचि थी, जिसके लिए वीरता और कर्मण्यता का जीवन बहुत कम रह गया था। …. रीतिकालीन कविता …

रीतिकाल : हिंदी साहित्य का इतिहास Read More »