हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  • अक्षर -अक्षर यज्ञ” किसके पत्रों का संग्रह है – धर्मवीर भारती
  • सूर समाना चंद मे दहू किया घर एक ….क्बीर
  • पटकथा की मूल ईकाई क्या है– दृश्य
  • मक्रील कहानी किसकी है- यशपाल
  • तनावों के कहानीकार” किसको कहा जाता है- -मोहन राकेश
  • फ्लैस बैक की शैली का पहली बार प्रयोग किस कहानी मे हुआ था-उसने कहा था
  • प्रकृतिवादी कहानीकार माना जाता है-बेचन शर्मा उग्र
  • सूर्यकांत त्रिपाठी को “निराला”नाम किस पत्रिका ने दिया-मतवाला
  • महादेवी वर्मा किस रचना मे “साहित्यकारों का, वर्णन है-पथ के साथी
  • “मंगल भवन अमंगल हारी द्रवहु सुदशरथ अजिर बिहारी”पक्ति है-तुलसीदास

हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  • नारी मुक्ति का प्रबल समर्थक कवि है-सुमित्रा नन्दन पंत
  • दिनकर की कृति “कुरूक्षैत्र” को विश्व की 100 पुस्तकों में कौनसा स्थान दिया गया -74
  • “साथ सहा गया दुख” रचना है-नरेन्द्र कोहली
  • पश्चिम में प्रयोगवाद आंदोलन “न्यू सिगनेचर “के पुरोधा थे-टी.एस.इलियट
  • युयुत्सावादी कविता के प्रवर्तक है-शलभ श्री रामसिंह
  • “मैं प्रयोगवाद का अगुवा नहीं पिछलगूवा हूँ”यह कथन किसका है-रामधारी सिंह “दिनकर
  • “तुमने कहा था “नामक काव्य संग्रह हैं-नागार्जुन का
  • अपने करीब के साहित्यिको की “अच्छाईयो और बुराईयो से बनी और बुनी “आदमियता का बेबाक खुलासा इस किताब मे है-
  • यहा किस लेखक की किस किताब” की और संकेत किया गया है-काशीनाथ सिंह_याद न हो याद
  • फ्रांसीसी कवियों से प्रभावित होने के कारण किसको “कवियों का कवि “कहा गया है-शमशेर बहादुर सिंह
  • दीवानखाना” और “मितवाघर”किसके संस्मरणात्मक साक्षात्कार है-पद्मा सचदेवा
  • पत्रात्मक शैली मे लिखा गया हिन्दी का पहला उपन्यास -चंद हसीनो के खतूत
  • अद्दहमाण(अब्दुल रहमान) की रचना है-संदेश शासक

हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  •  अवहट्ठ को “देसिल बयाना “किसने कहा-विद्यापति
  • पिंगल भाषा का तात्पर्य है-ब्रज +अपभ्रंश के मेल से बनी भाषा
  • विद्यापति ने किस रचना को भृंगभृंगी संवाद के रूप लिखा-कीर्तिलता
  • प्राकृत पैगलम मेँ जिन कवियों की रचनाएँ है-विद्याधर ,जज्वल और शार्गधर
  •  श्रावकाचार मेँ दोहो की संख्या है-250
  • विद्यापति किस के परम भक्त थे -शिव
  • हिन्दी आलोचना मे वाचिक परम्परा के आचार्य है-रामचंद्र शुक्ल”
  •  गोरख अटके कालपुर, कौन कहावैसाहु – “यह पंक्ति किसकी है – कबीरदास
  • “विचार कविता “कब सामने आई-1973 में
  • रासो काव्य परंपरा” जैसी नईकाव्य परंपरा को किसने स्थापितकिया-धीरेंद्र वर्मा
  • “ झहरी झहरी झीनी बूंद है परति मानो,आनि कह्यो श्याम मो सो चलो झूलिबैको आज “यह पंक्ति किसकी है – दे
  • हिंदी का लोक साहित्य “रचना के लेखकहै-राहुल सांकृत्यायन
  • आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने हिंदीइतिहास को शुद्ध ब्राह्मणवादीदृष्टिकोण से देखा था।”“यह कथन किसका है-नामवर सिंह
  • रामचरितमानस के टीकाकार है-महेन्द्र रामचरण
  • “ नैनन में सदा रहत तिनके, अब कानकहानी सुन्यौ करे |” पंक्ति किसकी है -आलम
  • सूरति व निरति शब्द किनसे प्राप्त हुए -बौध्द सिध्दों से
  • आलवार भक्तों के पद किस भाषा में है-तमिल

हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  • आलवार भक्त मूलतः किसको कहा जाता हैवैष्णवों
  • बीसलदेव रासो का काव्य रूप क्या है-गेय मुक्तक काव्य
  • गुरु नानक जी का जन्म हुआ था-1469 ईस्वी
  • कालिदास की कितनी रचनाएँ है -7
  • प्राकृत पैंगलम् किस कवि की रचना है-लक्ष्मीधर
  • पृथ्‍वीराज रासो को सर्वथा अप्रामाणिक मानने वाले विद्वान हैं-आचार्य शुक्ल
  • विद्यापति के अतिरिक्त मैथिली भाषा का एक अन्य प्रसिद्ध कवि हैं-उमापति
  • हिन्दी रास परम्परा की प्रथम ऐतिहासिक रचना है-पंचपाण्डवचरित रास
  • सन्ध्या भाषा नाम के प्रयोग कर्ता है मुनि जिनदत्त सूरी
  • हिन्दी मुक्तक काव्य परम्परा का सबसे प्रिय छन्द जो आदिकालीन साहित्‍य की देन माना गया है-दोहा
  • प्राकृत प्रकाश “के रचनाकार हैं-वररुचि
  • “प्रेमाख्यान परंपरा सूफीअनुकृत है”यह मत किसका है-शुक्ल
  • हिंदी साहित्य में वृत्त संग्रहोकी परंपरा का आरंभ किसने किया-शिव सिंह सरोज
  • नागरी प्रचारिणी सभा द्वारा”हिंदी साहित्य का बृहत इतिहास”कितनी भाषाओ में प्रस्तुत करने कीयोजना थी-16
  • भक्तिकाल को दार्शनिक औरधार्मिक आधार पर प्रतिष्ठितकिसने किया”-राम चंद्र शुक्ल
  •  ”सोहत सुंदर श्याम सिर,मुकुट मनोहरजोर | मनो नीलमणि सैल पर, नाचतराचत मोर |यह पंक्ति किसकी है -महाराज रामसिंह

हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  • जोधराज ने किसके अनुरोध परहम्मीररासौ नामक ग्रंथ लिखा -चंद्रभान चौहान
  • कौन विद्वान अपभ्रंश को पुरानी हिंदी मानने वालो मे कौन नही है-गुलेरी ,राम चंद्र शुक्ल और राहुल संकृत्यायन
  • नाथो मेँ “रसासनी “कौन कहे जाते थे-नागार्जुन
  • किस कवि ने अपने को अभिमान मेरु कहा-पुष्पदंत
  • बीसलदेव रासो की नायिका का नाम था -राजमती
  • गेय पदो की परम्परा किससे प्रारम्भ हुई थी-सिद्धो से
  • काआ तरूअर पंच बिड़ाल” पंक्ति किसकी है-कण्हपा
  • विद्यापति के किस ग्रंथ मेँ जौनपुर नगर का वर्णन बहुत यथार्थपरक ढ़ंग से किया गया है-कीर्ति लता
  • विद्यापति किस रचना से मैथिल कोकिल के नाम से प्रसिद्ध हुए-पदावली
  • बौद्ध गान ओ दोहा” किनकी रचनाओं के संग्रह-सिद्धो
  • धूत कहो अवधूत कहो “ पंक्ति के लेखक है-तुलसीदास
  • जैन साहित्य मेँ सर्वाधिक लोकप्रिय काव्य शैली थी-रास
  • जैन परंपरा के सर्वप्रथम कवि है-स्वयंभू
  • खुसरो द्वारा रचित ग्रंथो की संख्या कितनी बताई जाती है100
  • पउमचरिउ को किसने पूरा किया-त्रिभूवन
  • नाथ साहित्य के आरंभ करता माने जाते है-गोरख नाथ

हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  • बालनाथ का टीला “कहाँ हा-पंजाब
  • “सदा तेरैया ना बनफूले ,यारो सदा न सावन होए”यह पंक्ति किस ग्रंथ की पंक्ति हैपरमाल रासो
  • डॉ राम कुमार वर्मा ने नाथ पंत के चरमोत्कर्ष का समय कब से कब तक माना है-12शती से 14शती
  • “लिखनावली “नामक रचना के लेखक है -विद्यापति
  • किसमें केवल एक ही अंक व एक ही पात्र होता है-भाण
  • समवकार में कितने अंक होते हैं- तीन
  • “संकलन त्रय “ में शामिल होता है-कार्य ,स्थान,और समय
  •  नाट्यशास्त्र के अनुसार नाटक की नायिका के भेद माने गए हैं-3
  • नाटक के अंगी/प्रधान रस माने गए हैं-श्रृंगार व वीर
  • नाटक में संधियों की संख्या मानी गई है-5
  • नाटकं सप्रकरणं भाण : प्रहसनं डिम :व्यायोग समवकारौ वीथ्यंकेहामृगा इति॥ “ नाटक के ये दस भेद माने हैं-धनंजय
  • नाटक को पंचम वेद कहा है-भरतमुनि ने
  • “कठपुतलियों के खेल व नाच से नाट्य साहित्य की उत्पत्ति हुई है । “ नाटक की यह परिभाषा दी है-पिशेल
  • “अवस्थानुकृतिनाट्यम “ नाटक की यह परिभाषा किसने दी है-धनंजय
  • घृणामयी “उपन्यास किसका है-इलाचन्द्र जोशी
  • सर्वश्रेष्ठ रस किसे माना जाता है-श्रृंगार रस

हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  • आलसियों के समर्थक कवि माने जाते है-मलूकदास
  • भारतीय भाषा में रचना करने वाले प्रथम मुसलमान कवि है-अब्दुल रहमान
  • वर्ण किसकी लघुत्तम इकाई है- भाषा की
  • “मुझे मत मारो “किसका नाटक है-गिरिश रस्तोगी
  • “चिँतामणि:- भाग एक” मेँ कुल कितने निबंध है- 17
  • भारतीय आर्य भाषा परिवार की भाषाओं का मूल स्रोत कौन सी भाषा है – वैदिक संस्कृत
  • तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और मलयालम भाषाएँ किस भाषा परिवार से संबद्ध हैं – द्रविड़ परिवार
  • भाषा का मूल रूप कौन सा है – मौखिक रूप
  • खड़ी बोली हिन्दी का साहित्यिक रूप किस शताब्दी में विकसित हुआ – उन्नीसवीं शताब्दी
  • हिन्दी को भारतीय संविधान में संघ की राजभाषा के रूप में कब मान्यता मिली – 14 सितंबर, 1949
  • आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी ने किस पत्रिका के माध्यम से खडी बोली हिन्दी को परिष्कृत और परिमार्जित करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई – सरस्वती
  • उत्तर भारत की खड़ी बोली हिन्दी दक्षिण में किस रूप में विकसित हुई – दक्कनी हिन्दी 
  • मध्य काल में राजकाज की भाषा के रूप में किस भाषा को मान्यता मिली हुई थी – फारसी
  • पहला गिरमिटिया”के नायक है-महात्मा गांधीविशेष:-पहला गिरमिटिया, गिरिराज किशोर द्वारा रचित एक हिन्दी उपन्यास है जो महात्मा गांधी पर आधारित है। इसके नायक “मोहनदास” हैं अर्थात गांधीजी का आरम्भिक रूप
  • निराला ने किसे हिंदी का जातीय छंद कहा है-कवित्त
  • किस आचार्य ने निर्गुण सगुण दोनों धाराओं को प्रभावित किया-रामानंद
  • नवगीत का प्रारम्भ माना जाता है1965
  • परम्परा “कहानी के रचयिता है-अज्ञेय

हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  • रहस्यवाद का आधार है-अद्वैतवाद
  • गुरुसुवा जेहि पंथ देखावा” किस महाकाव्य की पंक्ति है-पदमावत
  • ब्रजभाषा और अवधी किस काल की काव्य भाषाएँ थीं -मध्य काल
  • रामचंद्रिका को छंदो का अजायबघर किसने कहा है-रामस्वरूप चतुर्वेदी
  • भारतेंदु ग्रंथावली के संपादक है -ओमप्रकाश
  • “इतिहास दिवाकर” की उपाधि किसे दी गयी-गुलेरी
  • भरतमुनि के अनुसार करुण रस के देवता है-यम
  • भक्तिकाल को पूर्वमध्यकाल किसने कहा है-नगेन्द्र
  • भारवि का वास्तविक नाम क्या था-दामोदर
  • “मैथिल कोकिल” किसे कहा जाता है -विद्यापति
  • चितामणी किस काल के कवि है-उत्तरमध्यकाल
  • संविधान के किस अनुच्छेद के अनुसार संघ की राजभाषा हिन्दी और लिपि देवनागरी है -अनुच्छेद-343
  • कृष्ण काव्य की अपार संपदा किस भाषा में है -ब्रजभाषा
  • ब्रजभाषा, खड़ी बोली, हरियाणवी, बुंदेली, और कन्नौजी बोलियाँ हिन्दी को बोलियों के किस वर्ग की हैं -पश्चिमी हिन्दी
  • दो पंक्तियों के बीच “नामक रचना है -राजेश जोशी
  • जलते हुए वन का वसंत “रचना है -दुष्यन्त कुमार
  • बरगद की छाया “उपन्यास है -सत्यप्रकाश संगर
  •  ससकीरत है कूप जल भाखा बहता नीर” किसका कथन है-कबीर
  •  ”नये प्रतिमान पुराने निकष “कृति के रचयिता है-लक्ष्मीकान्त वर्मा
  • जनान्तिक रचना के रचयिता है-नेमिचंद जैन

हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  • परिणति,”किसकी रचना है-भारत भूषण अग्रवाल
  • हिन्दी की बोलियों को कितने वर्गों में रखा जाता है -पाँच
  • बुंदेली” और “कन्नौजी” बोली हिन्दी के किस उपभाषा वर्ग की बोलियाँ हैं -पश्चिमी हिन्दी
  • आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं का विकास किससे हुआ -अपभ्रंश
  • “भोजपुरी” मूलत: किस प्रदेश की बोली है -बिहार
  • महाकाव्य विवेचन” किसकी रचना है-राज्ञेय राघव
  • “आज और आज से पहले “आलोचना के लेखक है-कुंवर नरायण
  • सामाजिक यथार्थवाद के नाम पर कविता में कौनसा आन्दोलन चलाया गया-नकेनवाद
  • “तुलसी रसायन “रचना किसकी है -भागीरथ मिश्र
  • “ एक उठा हुआ हाथ,”किसकी रचना है-भारभूषण अग्रवाल
  • मुक्तिमार्ग के लेखक कौन है-भारतभूषण अग्रवाल
  • करुण ही एक मात्र रस है” यह किसका कथन है-भवभूति
  • वागर्थ रचना किसकी है-कमला प्रसाद
  • वसुधा रचना किसकी है-रवींद्र कालिया
  • प्रश्नचिह्न, फूटा प्रभात, भारतत्व, किसकी कृतियॉ है-भारत भूषण
  • बाल-साहित्य : गुलेल का खेल “किसकी रचना है -भीष्मसाहनी
  • पहला पाठ “किसकी रचना है -भारत भूषण
  • छम्मक छल्लो कहिस “कृति किसकी है-विभारानी
  • मानक हिन्दी का विकास किस बोली में हुआ -खड़ी बोली हिन्दी
  • भाषा के संदर्भ में सत्य कथन है-भाषा अर्जित सम्पत्ति है&भाषा परिवर्तनशील है &भाषा अनुकरण द्वारा अर्जितकी जाती है
  • लिपि के विकास-क्रम में पहली लिपि कौन सी है -चित्र लिपि
  • परिमल” किनकी संस्था थी-नए लेखकों की

हिंदी साहित्य प्रश्नोत्तरी

  • “हम निहारते रूप काँच के पीछे हाँफ रही हैमछली “ पंक्ति किसकी है-अज्ञेय
  • हितहरिबंश को किसका अवतार माना जाता है -बाँसुरी
  • बाल कविता “ यह कदम का पेड “-सुभद्राकुमारी
  • नयी धारा के द्वितीय उत्थान काल का एकमात्र उपन्यासकार शुक्ल ने किसे माना है  किशोरी लाल गोस्वामी
  • रघुवीर सहाय ग्रंथावली कितने खंडों मे विभक्त है =छः
  • कैमरे मे बंद अपाहिज कविता के आरंभ मे संचालक का कौनसा भाव उजागर होता है-संवेदनहीन
  • करूणा के मुखोटे मे छिपी क्रूरता की कविता है कैमरे मे बंद अपाहिज
  • कैमरे मे बंद अपाहिज “ कविता मे प्रयुक्त शैली है- नाटकीय शैली
  • तोडो” कविता में खेत प्रतीक है –मन का
  • रघुवीर सहाय की तोड़ो शीर्षक कविता है –उद्बोधनपरक
  • मुक्तिबोध की प्रसिद्धि का मुख्य हेतु है – लम्बी कविता
  • नया खुन नामक पत्रिका का संपादन कहाँ से –नागपुर

प्रातिक्रिया दे