द्विवेदी युग के प्रमुख कवि

द्विवेदी युग के प्रमुख कवि द्विवेदी युग का समय – 1900 से 1920 तक नग्रेन्द्र के अनुसार – 1900- 1918 तक भारतीय जनमानस में स्वदेश प्रेम एवं नवजागरण के जे बीज भारतेन्दु युग में अंकुरित हुए थे वे द्विवेदी युग में पूर्ण पल्लवित होकर सामने आए। इस युग का नामकरण ‘आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी’ के … Read more

द्विवेदी युग या जागरण-सुधार काल

हिन्दी साहित्य

द्विवेदी युग (1900ई०-1920ई०)द्विवेदी युग 20 वी० सदी के पहले दो दशकों का युग है। इन दो दशकों के कालखण्ड ने हिन्दी कविता को श्रृंगारिकता से राष्ट्रीयता, जड़ता से प्रगति तथा रूढ़ि से स्वच्छंदता के द्वार पर ला खड़ा किया।इस कालखंड के पथ प्रदर्शक, विचारक और सर्वस्वीकृत साहित्य नेता आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी के नाम पर इसका नाम द्विवेदी युग रखा गया है।

error: Content is protected !!