Sahity.in से जुड़ें @WhatsApp @Telegram @ Facebook @ Twitter

Browsing Tag

हिन्दी जीवनी

हिन्दी के जीवनीपरक उपन्यास

हिन्दी के जीवनीपरक उपन्यास HINDI SAHITYA ‘भारती का सपूत'— डॉ. रांगेय राघव (भारतेन्दु हरिश्चन्द्र पर, हिन्दी में प्रथम जीवनीपरक उपन्यास, 1954, प्रथम संस्करण), ‘रत्ना की बात' — डॉ. रांगेय राघव (तुलसी के जीवन पर, 1957, द्वितीय संस्करण) 

हिन्दी साहित्य में प्रमुख जीवनी (Biography) व उनके जीवनीकार

हिन्दी साहित्य में प्रमुख जीवनी (Biography) व उनके जीवनीकार इस प्रकार हैं :- नाभा दास- भक्तमाल (1585 ई०) गोसाई गोकुलनाथ -चौरासी वैष्णवन की वार्ता, दो सौ बावन वैष्णवन की वार्ता (17 वीं सदी ई०) गोपाल शर्मा शास्त्री -दयानंद दिग्विजय