सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला का साहित्यिक परिचय 

सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला (२१ फरवरी, १८९९ – १५ अक्टूबर, १९६१) हिन्दी कविता के छायावादी युग के जयशंकर प्रसाद, सुमित्रानंदन पंत और महादेवी वर्मा के साथ हिन्दी साहित्य में छायावाद के प्रमुख स्तंभ माने जाते हैं।

surykant tripathi nirala
surykant tripathi nirala

सूर्यकान्त त्रिपाठी ‘निराला’ का जन्म बंगाल की महिषादल रियासत (जिला मेदिनीपुर) में माघ शुक्ल 11, संवत् 1955, तदनुसार 21 फ़रवरी, सन् 1899 में हुआ था। वसंत पंचमी पर उनका जन्मदिन मनाने की परंपरा 1930 में प्रारंभ हुई। उनका जन्म मंगलवार को हुआ था। जन्म-कुण्डली बनाने वाले पंडित के कहने से उनका नाम सुर्जकुमार रखा गया। उनके पिता पंडित रामसहाय तिवारी उन्नाव (बैसवाड़ा) के रहने वाले थे और महिषादल में सिपाही की नौकरी करते थे। वे मूल रूप से उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के गढ़ाकोला नामक गाँव के निवासी थे।

प्रकाशित कृतियाँ

काव्यसंग्रह

  • अनामिका (१९२३)
  • परिमल (१९३०)
  • गीतिका (१९३६)
  • अनामिका (द्वितीय) (१९३९)[11] (इसी संग्रह में सरोज स्मृति और राम की शक्तिपूजा जैसी प्रसिद्ध कविताओं का संकलन है।
  • तुलसीदास (१९३९)
  • कुकुरमुत्ता (१९४२)
  • अणिमा (१९४३)
  • बेला (१९४६)
  • नये पत्ते (१९४६)
  • अर्चना(१९५०)
  • आराधना (१९५३)
  • गीत कुंज (१९५४)
  • सांध्य काकली
  • अपरा (संचयन)

उपन्यास

  • अप्सरा (१९३१)
  • अलका (१९३३)
  • प्रभावती (१९३६)
  • निरुपमा (१९३६)
  • कुल्ली भाट (१९३८-३९)
  • बिल्लेसुर बकरिहा (१९४२)
  • चोटी की पकड़ (१९४६)
  • काले कारनामे (१९५०) {अपूर्ण}
  • चमेली (अपूर्ण)
  • इन्दुलेखा (अपूर्ण)

कहानी संग्रह

  • लिली (१९३४)
  • सखी (१९३५)
  • सुकुल की बीवी (१९४१)
  • चतुरी चमार (१९४५) [‘सखी’ संग्रह की कहानियों का ही इस नये नाम से पुनर्प्रकाशन।]
  • देवी (१९४८) [यह संग्रह वस्तुतः पूर्व प्रकाशित संग्रहों से संचयन है। इसमें एकमात्र नयी कहानी ‘जान की !’ संकलित है।]

निबन्ध-आलोचना

  1. रवीन्द्र कविता कानन (१९२९)
  2. प्रबंध पद्म (१९३४)
  3. प्रबंध प्रतिमा (१९४०)
  4. चाबुक (१९४२)
  5. चयन (१९५७)
  6. संग्रह (१९६३)[12]

पुराण कथा

  1. महाभारत (१९३९)
  2. रामायण की अन्तर्कथाएँ (१९५६)

बालोपयोगी साहित्य

  1. भक्त ध्रुव (१९२६)
  2. भक्त प्रहलाद (१९२६)
  3. भीष्म (१९२६)
  4. महाराणा प्रताप (१९२७)
  5. सीखभरी कहानियाँ (ईसप की नीतिकथाएँ) [१९६९]

अनुवाद

  1. रामचरितमानस (विनय-भाग)-१९४८ (खड़ीबोली हिन्दी में पद्यानुवाद)
  2. आनंद मठ (बाङ्ला से गद्यानुवाद)
  3. विष वृक्ष
  4. कृष्णकांत का वसीयतनामा
  5. कपालकुंडला
  6. दुर्गेश नन्दिनी
  7. राज सिंह
  8. राजरानी
  9. देवी चौधरानी
  10. युगलांगुलीय
  11. चन्द्रशेखर
  12. रजनी
  13. श्रीरामकृष्णवचनामृत (तीन खण्डों में)
  14. परिव्राजक
  15. भारत में विवेकानंद
  16. राजयोग (अंशानुवाद)

प्रातिक्रिया दे