हिंदी की पहली कहानी

हिंदी की पहली कहानी

हिंदी कहानी का वास्तविक विकास ‘द्विवेदी युग’ से ही शुरू हुआ। किशोरी लाल गोस्वामी की इंदुमती कहानी को कुछ विद्वान हिंदी की पहली कहानी मानते हैं। अन्य कहानियों में बंग महिला की दुलाई वाली, शुक्ल जी की ग्यारह वर्ष का समय, प्रसाद जी की ग्राम और चंद्रधर शर्मा गुलेरी की उसने कहा था महत्त्वपूर्ण हैं।

समालोचना के क्षेत्र में पद्मसिंह शर्मा उल्लेखनीय हैं। “हरिऔध”, शिवनंदन सहाय तथा राय देवीप्रसाद पूर्ण द्वारा कुछ नाटक लिखे गए।

प्रातिक्रिया दे