विराम चिन्ह (Punctuation Mark) की परिभाषा

(9) अवतरण चिह्न या उद्धरणचिह्न (Inverted Comma)(”… ”) – किसी की कही हुई बात को उसी तरह प्रकट करने के लिए अवतरण चिह्न ( ”… ” ) का प्रयोग होता है।

जैसे- राम ने कहा, ”सत्य बोलना सबसे बड़ा धर्म है।”
उद्धरणचिह्न के दो रूप है- इकहरा ( ‘ ‘ ) और दुहरा ( ” ” )।

(i) जहाँ किसी पुस्तक से कोई वाक्य या अवतरण ज्यों-का-त्यों उद्धृत किया जाए, वहाँ दुहरे उद्धरण चिह्न का प्रयोग होता है और जहाँ कोई विशेष शब्द, पद, वाक्य-खण्ड इत्यादि उद्धृत किये जायें वहाँ इकहरे उद्धरण लगते हैं। जैसे-”जीवन विश्र्व की सम्पत्ति है। ”- जयशंकर प्रसाद
”कामायनी’ की कथा संक्षेप में लिखिए।

(ii) पुस्तक, समाचारपत्र, लेखक का उपनाम, लेख का शीर्षक इत्यादि उद्धृतकरते समय इकहरे उद्धरणचिह्न का प्रयोग होता है।
जैसे- ‘निराला’ पागल नहीं थे।
‘किशोर-भारती’ का प्रकाशन हर महीने होता है।
‘जुही की कली’ का सारांश अपनी भाषा में लिखो।
सिद्धराज ‘पागल’ एक अच्छे कवि हैं।
‘प्रदीप’ एक हिन्दी दैनिक पत्र है।

(iii) महत्त्वपूर्ण कथन, कहावत, सन्धि आदि को उद्धत करने में दुहरे उद्धरणचिह्न का प्रयोग होता है।
जैसे- भारतेन्दु ने कहा था- ”देश को राष्ट्रीय साहित्य चाहिए।”

(10) लाघव चिह्न (Abbreviation sign)( o ) – किसी बड़े तथा प्रसिद्ध शब्द को संक्षेप में लिखने के लिए उस शब्द का पहला अक्षर लिखकर उसके आगे शून्य (०) लगा देते हैं। यह शून्य ही लाघव-चिह्न कहलाता है।

जैसे- पंडित का लाघव-चिह्न पंo,
डॉंक़्टर का लाघव-चिह् डॉंo
प्रोफेसर का लाघव-चिह्न प्रो०

(11) आदेश चिह्न (Sign of following)(:-) – किसी विषय को क्रम से लिखना हो तो विषय-क्रम व्यक्त करने से पूर्व आदेश चिह्न ( :- ) का प्रयोग किया जाता है।
जैसे- वचन के दो भेद है :- 1. एकवचन, 2. बहुवचन।

(12) रेखांकन चिह्न (Underline) (_) – वाक्य में महत्त्वपूर्ण शब्द, पद, वाक्य रेखांकित कर दिया जाता है।

जैसे- गोदान उपन्यास, प्रेमचंद द्वारा लिखित सर्वश्रेष्ठ कृति है।

(13) लोप चिह्न (Mark of Omission)(…) – जब वाक्य या अनुच्छेद में कुछ अंश छोड़ कर लिखना हो तो लोप चिह्न का प्रयोग किया जाता है।

जैसे- गाँधीजी ने कहा, ”परीक्षा की घड़ी आ गई है …. हम करेंगे या मरेंगे” ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.