चूहों म्याऊ सो रही है कक्षा 1 हिन्दी पाठ 3

यहाँ आपको चूहों म्याऊ सो रही है कक्षा 1 हिन्दी पाठ 3 से सम्बंधित सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है जिसे समय समय पर अपडेट करते रहेंगे .

पूर्वज्ञान :-

••बच्चे बिल्ली और चूहे के बारे में जानते हों.
••कविता का आनंद लेते हों.

हम सीखेंगे :-

  • बच्चों में श्रवण कौशल का विकास होगा.
  • वाचन कौशल का विकास होगा.
  • अभिव्यक्ति क्षमता का विकास होगा.

चूहों म्याऊ सो रही है कक्षा 1 हिन्दी पाठ 3

घर के पीछे,
छत के नीचे,
पाँव पसारे,
पूँछ सँवारे।

देखो कोई,
मौसी सोई,
नासों में से.
साँसों में से।

घर घर घर घर हो रही है,
चूहो! म्याऊँ सो रही है।

बिल्ली सोई,
खुली रसोई,
भरे पतीले,
चने रसीले।

उलटो मटका,
देकर झटका,
जो कुछ पाओ,
चट कर जाओ।
आज हमारा दूध दही है,
चूहो! म्याऊँ सो रही है।

मूंछ मरोड़ो,
पूँछ सिकोड़ो,
नीचे उतरो,
चीजें कुतरो।

आज हमारा,
राज हमारा,
करो तबाही,
जो मनचाही।

आज मची है,
चूहा शाही,

डर कुछ भी चूहों को नहीं है,
चूहो! म्याऊँ सो रही है।

बोध प्रश्न:-

  • कविता में “मौसी” किसे कहा गया है?
  • म्याऊँ की आवाज कौन करती है?
  • बिल्ली कहाँ सो रही थी?

बोध प्रश्न:-

  • बिल्ली के सोने के बाद कौन चीजों को कुतरने निकलता है?
  • कविता में रसोई घर के सामान को कौन चट कर रहा है?

नीचे दिए गये गतिविधियों को करिये-

चूहों म्याऊ सो रही है

अधिगम क्षमताएं

  • बच्चों में श्रवण कौशल का विकास
  • वाचन कौशल का विकास
  • अभिव्यक्ति क्षमता का विकास

बिल्ली के सोने के बाद चूहे क्या क्या करने लगते हैं?

कक्षा 1 हिन्दी पाठ 1- आम की टोकरी [Hindi Lesson 1- Aam ki tokari]

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!