indian history

दिल्ली सल्तनत का विस्तार कक्षा 7 सामाजिक विज्ञान (इतिहास)

दिल्ली सल्तनत का विस्तार

याद रखने योग्य बातें

  • बल्बन के मरने के कुछ सालों बाद सन् 1290 में जलालुद्दीन खिलजी सुल्तान बना।
  • जुलालुद्दीन के भतीजे अलाऊद्दीन खिलजी ने उसे छल से मार दिया और खुद सुल्तान बन गया। वह सन् 1296 में दिल्ली का सुल्तान बना।
  • इतिहास के विषय में हमें शिलालेखों, ताम्रपत्रों या सिक्कों से और उस जमाने में लिखी किताबों से जानकारी मिलती है।
  • अमीर खुसरो, अलाऊद्दीन कालीन प्रसिद्ध फारसी कवि थे।
  • इतिहासकार बरनी ने “तारीख-ए-फिरोजशाही” नामक किताब लिखी।
  • सन् 1299 में अलाऊद्दीन ने गुजरात की जीत, उस पर अपना कब्जा कर लिया।
  • अलाऊद्दीन का मुख्य उद्देश्य साम्राज्य विस्तार नहीं बल्कि धन कमाना था।
  • उसने सैनिकों के लिए हुलिया तथा घोड़ों को दागने की प्रथा शुरू की।
  • सन् 1316 में अलाऊद्दीन की मृत्यु हो गई।
  • अलाऊद्दीन की मृत्यु पश्चात् दिल्ली में तुगलक वंश का शासन आया। गयासुद्दीन तुगलक इस वंश का पहला सुल्तान बना।
  • उसने तुगलकाबाद नामक नगर की स्थापना की।
  • उसके बाद मुहम्मद बिन तुगलक सुल्तान बना, जिसने काँसे के सिक्के चलवाए और दौलताबाद को अपनी राजधानी बनाया।
  • छत्तीसगढ़ पर सल्तनतकालीन शासकों का प्रभाव नहीं था।
  • उस समय छत्तीसगढ़ के रतनपुर में कल्चुरी राजाओं का राज था।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!