काव्य लक्षण की विशेषताएँ

हिन्दी काव्यशास्त्र

काव्य लक्षण की विशेषताएँ काव्य लक्षण करते समय कहा गया है कि उसमें निम्नलिखित विशेषताएँ होनी चाहिए – काव्य लक्षण में अति-व्याप्ति या अव्याप्ति का दोष नहीं होना चाहिए। अति-व्याप्ति दोष से तात्पर्य है विषय का अनावश्यक अति-विस्तार जैसे ‘काव्य का’ लक्षण करना चाहते थे लेकिन कर दिया – ‘संपूर्ण वाड्.मय का’। जैसे भामह का … Read more

error: Content is protected !!