indian history

सल्तनत कालीन जन-जीवन कक्षा 7 सामाजिक विज्ञान (इतिहास)

सल्तनत कालीन जन-जीवन

याद रखने योग्य बातें

  • 1206 ई. से 1526 ई. तक के काल को दिल्ली के सुल्तानों का काल या सल्तनत काल कहा जाता है।
  • सल्तनत बनने के बाद ईरान, इराक, तुर्कीस्तान, समरकंद और बुखारा इलाके के लोग भारत में आकर बस गये।
  • चंगेज खाँ, मंगोल का आक्रमणकारी था।
  • बड़े अधिकारी व सेनापति को तब अमीर कहा जाता था।
  • ग्रामीणों का प्रमुख व्यवसाय खेती ही था ।
  • शहरों में नए तकनीक और उद्योग स्थापित हुए ।
  • भवन निर्माण में जुड़ाई के लिए चूना-गारे का प्रयोग होता था ।
  • कागज बनाने की कला और पुस्तक पर जिल्द चढ़ाने की कला भारत में तुर्क लाये।
  • कुरता, पयजामा, कमीज तुर्कों की देन है।
  • गिनती में शून्य (0) भारत की देन है।
  • शेख निजामुद्दीन औलिया दिल्ली में रहने वाले सूफी संत थे।
  • अमीर खुसरो शेख निजामुद्दीन के प्रिय शिष्य थे। मैं तबले और सितार की खोज अमीर खुसरो ने की थी।
  • अमीर खुसरो अपने को “तोता-ए-हिन्द” कहते थे।
  • तब इस्लाम में कई धाराएँ व सम्प्रदाय बन गए थे जैसे शिया, सन्नी, सूफी, इस्लामी आदि।
  • कबीर व नानक इस काल के लोकप्रिय संत कवि हुए।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!