पदार्थ की संरचना कक्षा 7 विज्ञान पाठ 3

पदार्थ की संरचना कक्षा 7 विज्ञान पाठ 3

स्मरणीय तथ्य

1. शुद्ध पदार्थ – कुछ पदार्थ ऐसे होते हैं, जिनके अवयवों को भौतिक विधियों के द्वारा अलग नहीं किया जा सकता उन्हें शुद्ध पदार्थ कहते

2. तत्व- ऐसे शुद्ध पदार्थ जिनमें एक ही प्रकार के अवयव पाये जाते हैं, तत्व कहलाते हैं। प्रत्येक तत्व के अपने विशेष गुण होते हैं तथा यही गुण उनकी पहचान करने में सहायक होते हैं।

3. अणु- पदार्थ का सूक्ष्म कण है जो रासायनिक क्रिया में भाग लेते हैं तथा स्वतन्त्र अवस्थाओं में नहीं रह सकता।

4. परमाणु-पदार्थ का सूक्ष्मतम कण है जो रासायनिक क्रिया में भाग लेता है, किन्तु स्वतन्त्र अवस्थाओं में नहीं रह सकता।

5. यौगिक-दो या दो से अधिक तत्वों के निश्चित अनुपात के संयोग से बने पदार्थ यौगिक कहलाते हैं।

6. मिश्रण – दो या दो से अधिक तत्वों को किसी भी अनुपात में मिलाने पर मिश्रण बनता है।

7. परमाणुकता- किसी भी तत्व के एक अणु में उपस्थित कुल परमाणुओं की संख्या को उनकी परमाणुकता कहते हैं।

8. रासायनिक समीकरण-रासायनिक अभिक्रिया को संकेतों एवं रासायनिक सूत्रों के माध्यम से दर्शाने वाले समीकरण को रासायनिक

समीकरण कहते हैं।

9. मिश्रण में अवयवी तत्वों के गुण उपस्थित होते हैं।

10. मिश्रण बनाने में तत्वों अथवा यौगिकों में रासायनिक परिवर्तन नहीं होता।

11. मिश्रण में अवयवी पदार्थों का अनुपात अनिश्चित होता है।

12. प्रत्येक अणु का एक निश्चित द्रव्यमान होता है जिसे उसका आण्विक द्रव्यमान कहते हैं

13. ठोस में कणों के बीच अत्याधिक आकर्षण बल होता है इसलिए इनका आकार एवं आयतन निश्चित होता है।

14. द्रव में कण एक-दूसरे से कुछ दूर होते हैं। इसका कारण इन्हें कुछ सीमा तक दबाया जा सकता है।

15. गैस में कणों के मध्य आकर्षण बल बहुत कम होता है इसलिये गैसों का आयतन व आकार दोनों अनिश्चित होता है।

16. संकेत के द्वारा हमें किसी तत्व के एक परमाणु की जबकि सूत्र के द्वारा किसी तत्व अथवा यौगिक के एक अणु में उपस्थित परमाणुओं की संख्या की जानकारी मिलती है।

17. सभी यौगिक अणुरूप में पाए जाते हैं अतः उनकों अणुसूत्र के रूप में दर्शाया जाता है।

18. किसी रासायनिक समीकरण में तीर के चिन्ह के बाईं ओर के पदार्थ अर्थात् जो क्रिया में भाग ले रहे हैं अधिकारक कहलाते हैं। तीर के दाहिने ओर के पदार्थ अर्थात् बनने वाला पदार्थ को उत्पाद या क्रियाफल कहते हैं।

19. किसी भी रासायनिक समीकरण में भाग लेने वाले प्रत्येक तत्व के कुल परमाणुओं की संख्या समीकरण के दोनों ओर बराबर होना चाहिए। ऐसे समीकरण को सन्तुलित समीकरण कहते हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.