इतिहास के स्रोत कक्षा 6 वीं सामाजिक विज्ञान (इतिहास) अध्याय 1

इतिहास के स्रोत कक्षा 6 वीं सामाजिक विज्ञान (इतिहास) अध्याय 1

इतिहास जानने के कई तरीके या स्रोत हैं जैसे-पुराने ग्रंथ, शिलालेख, खुदाई से प्राप्त अवशेष, स्मारक, भवन, बर्तन, औजार, हथियार, चित्र, सिक्के, एवं यात्रा संस्मरण ।

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में स्थित कबरा पहाड़ी और सिंघनपुर की गुफाओं में बने शैलचित्र आदिमानव काल के हैं। जब मनुष्य लिखने लगा तो उसने अपनी बात पत्थर पर खोदकर कहीं जिन्हें हम शिलालेख कहते हैं।

पुराने समय के लेख पाली या प्राकृत भाषा में लिखे गए हैं। ये सभी चीजें संग्रहालयों में देखी जा सकती हैं।

इतिहासकार और पुरातत्ववेत्ता इन लिपियों को पढ़ना जानते हैं जिसके कारण वे उस युग में क्या लिखा गया था, पढ़ कर हमें बता सकते हैं।

रायपुर के महंत घासीदास संग्रहालय में बिलासपुर जिले के किरारी गाँव से प्राप्त काष्ठ स्तंभ लेख को देखा है ।

इतिहास बड़ा ही रोचक और रोमांचक होता है। यह हमारे विकास की कहानी है। हम अपनी सभ्यता और संस्कृति के बारे में बहुत कुछ इतिहास पढ़कर ही जान सकते हैं। हम समझ सकते हैं कि हमारी आज की उन्नति के पीछे हमारा लंबा और महान अतीत छुपा हुआ है। जो हमें लगातार आगे बढ़ने में मदद दे सकती हैं ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

Comments are closed.

error: Content is protected !!