रोबोट (निबंध) कक्षा 5 हिन्दी

रोबोट (निबंध)

आज राहुल का जन्मदिन है। सुबह से ही वह बहुत व्यस्त एवं खुश नजर आ रहा है। सुबह वह जल्दी उठ गया। आज उसने जल्दी स्नान भी कर लिया। अपने जन्मदिन पर उसने अपने मित्रों को भी बुला रखा है। जन्मदिन की पार्टी तो शाम को होने वाली है किन्तु उसके कुछ विशेष मित्र सुबह से ही आ गए हैं। अपने उन मित्रों के साथ मिलकर राहुल अपने घर के बड़े कमरे को सजा रहा है। इसी कमरे में जन्मदिन का उत्सव मनाया जाना है।

राहुल के इस जन्मदिन पर राहुल के पिता जी ने एक अनूठा उपहार देने की बात कही है। राहुल तथा उसके मित्रों में इस अनूठे उपहार को देखने के लिए विशेष उत्सुकता, उत्साह और प्रसन्नता है।

शाम को सभी मित्रों एवं अतिथियों के आ जाने पर राहुल की माँ ने राहुल को टीका लगाया और आरती उतारी। उनके मित्रों ने गुब्बारे उड़ाए, इसके साथ ही तालियों की गड़गड़ाहट हुई। सबने एक स्वर से गाया “तुम जियो हजारों साल, साल के दिन हो पचास हजार। ” करण ने टेप रिकार्ड चालू कर दिया। संगीत की धुन पर सभी बच्चे नाचने लगे, किन्तु संगीत शीघ्र ही बंद हो गया। सभी बच्चों का ध्यान उस उपहार की ओर था, जो आज

राहुल के पिता जी राहुल को देने वाले थे। सुंदर, चमकीले कागज से ढँका, रंगीन फीते से

बँधा बड़ा-सा डिब्बा सबके बीच लाया गया। राहुल के पिता जी ने जन्मदिन की बधाई देते हुए राहुल से डिब्बे का फीता खोलने को कहा। डिब्बा खोला गया। उसके अंदर एक बड़ा खिलौना था। खिलौना क्या था, लोहे का बना हुआ एक आदमी था। सभी बच्चे उसे छू-छूकर देखने लगे। एक ने कहा, “यह तो लोहे का आदमी है।” दूसरे ने कहा, “यह तो काफी भारी है।” तीसरे ने पूछा, “हम इसका क्या करेंगे?”

रोबोट (निबंध) कक्षा 5 हिन्दी - ONlV9PxwP JNr4jbGE39544LK 5lBQQRw sQLrgbLfUesWNckKxLSmFkZx LksHjRnKGkhH i 7eBlGa rNWZV71vo0XrVdnLeInVj1ATYSF2XhG8GeXrg9DYaM9TeV1QGqHGb2kuLoSmE7FxYHldp9hkp0gvxEgHgDpuHPlfkB9WjhEP TqUfTPAE3o2iQgXr8ov2a5P0ml2jks4e4x5606AIYLSRdXIJRQsyI cFPc08rrGR1BNQHn2zip9QcHmsDVsS8poHEdgpNbOfi8jUTn1NOm4xwNysldZS7VZ4rxIsb0 30bSnrrzi58CU3iVgvSzt17SNzUt2WauCEQiA4fFxe64c3qJ0W e9vN4LsWiTm3mJurwn20ZEaF HWi1jUedOvcHIJJ2lQVcoNee7EKkolS3Lt8phuJYCX6DpWCseGf4wn65ZM34hz4PG PmEtF0FUXQKboZn6FToCNuPBGAst4l5eO2T8yJZRNeugsFkRL4kDABTvfP7PjK2kDTSeHXqgV7uxTrbcQ0jXcm7fFGYQgguVxL3Smf2VILgC22RuN8g0UNTdl6NffKZRzYjAiBpheVZuIYzrZoPw053 34hRtd665xLs4wG BM0BNuWyJrrXkyNYiXlcHt6upvr8ZBAHb1e0Mezw dUyaTMuKgN3eAmMJCvtqRGolZKx5Xt3aqFCLVt0UrITt1Hsw7GFvPbcpKRTMCfheSCvKScmfWDEfL YaN1rexnCsh8rYVqjXSJ4OpmTGcNaDOT9JJXkcvmXuC5zRlyNzFVuWeDoiM5axc6yxr5TD6VAfAiIWw3f6jfoKIvixe5b2FZtzZdiB0IGYoN7 024nDfR 7ntFkqZZQp1b67vWxlI3C85Pl9nn6o M41PfHfzx2iuQ65RHaiuvXuFxvAdJ lNDSAMsUCS3NcNiCbMuS C5aayo=w594 h510 no?authuser=0 - हिन्दी माध्यम में नोट्स संग्रह

तभी राहुल के पिता जी ने कहा, “बच्चो! यह खिलौना, जो मैंने राहुल को दिया है, एक ‘रोबोट’ है। यह अपने आप चलनेवाली एक मशीन है, जो आदमी की तरह कार्य करती है। देखो, मैं इसे चालू करता हूँ। तुम सब इसके करतब देखना ।”

राहुल के पिता जी ने रिमोट का बटन दबाकर उसे चालू किया। उस रोबोट ने अपने दोनों हाथ जोड़कर सभी को नमस्कार किया। उसके बाद उसने हाथ मिलाने के लिए अपना हाथ बढ़ाया और कहा, “राहुल भैया! तुम्हें जन्मदिन की बधाई।” राहुल ने हाथ मिलाकर उसे धन्यवाद दिया । सभी बच्चे रोबोट का यह करतब देख खुशी से उछल पड़े। उसके बाद उस रोबोट ने व्यायाम एवं मार्चपास्ट करके भी दिखाया। बच्चे रोबोट के करतब देखकर हैरान थे, क्योंकि वह काम भी करता था, बोलता भी था।

राहुल ने अपने पिता जी से पूछा, “पिता जी रोबोट और क्या-क्या काम करता है?” पिता जी ने बताया, “बेटे! यह तो मात्र खिलौना रोबोट है, इसलिए यह कुछ मनोरंजन ही करता है कोई कठिन काम नहीं करता। वैज्ञानिकों ने आदमी के स्थान पर काम करने के लिए जो रोबोट बनाए हैं, वे इसकी तुलना में काफी जटिल होते हैं। उनके अंदर जो मशीन होती है, वह भी काफी जटिल होती है। ऐसे रोबोट को बनाने में समय भी बहुत लगता है। इस कारण वे काफी महँगे होते हैं।” करण ने पूछा, “चाचा जी ! जब वे होते हैं तो उन्हें क्यों बनाते हैं?” बहुत महँगे राहुल के पिता जी ने कहा, “बेटे! कुछ ऐसे भी देश हैं, जहाँ घर या कारखानों में काम करने के लिए आदमियों की कमी होती है, वहाँ इनसे काम लिया जाता है। “

सीमा ने पूछा, “चाचा जी ! आदमी की कमी होने पर आदमी तो कहीं से भी बुलाए जा सकते हैं, ये महँगे रोबोट क्यों बनाए जाते हैं? क्या ये आदमियों से भी अधिक काम करते हैं?”

“हाँ बेटी ! ये आदमियों से कई गुना अधिक काम कर सकते हैं। ये थकते नहीं, इनसे गलतियाँ भी नहीं होतीं। ये रोबोट कुछ ऐसे भी काम करते हैं, जो आदमियों के वश के नहीं होते; जिनसे आदमियों की जान को खतरा होता है।”

मुकुल ने पूछा, “चाचा जी! वे किस तरह के काम हैं?”

“जैसे कारखानों में गरम वस्तुओं को उठाना रखना, जिन्हें मनुष्य जलने के डर से छू भी नहीं सकते। गहरे तेल के कुओं और खदानों में, जहाँ जहरीली गैसें होती हैं, वहाँ आदमियों के बदले रोबोट को भेजा जाता है। अंतरिक्ष यात्राओं में भी रोबोट को भेजा जाता है। आजकल गहरे समुद्र में गोताखोरी का काम भी रोबोट से ही लिया जा रहा है। ऐसी विपरीत परिस्थितियों में भी रोबोट मनुष्यों से अच्छा और तेजी से काम कर सकते हैं। “

राहुल ने पूछा, “पिता जी! ये रोबोट किस तरह से सब कार्य करते हैं? इन्हें कैसे पता होता है कि कौन-सा काम कब, कहाँ और कैसे करना है?”

“बेटे! मनुष्य के मस्तिष्क की तरह इस मशीनी मानव में एक यादगार यूनिट फिट होती है, जिसमें लाखों आदेश जमा किए जा सकते हैं। जो काम करवाने हों, उनकी सूची इस मशीन में डाल दी जाती है। इसके बाद एक के बाद एक काम स्वयं करते जाते हैं। सीधे ढंग से हम यह कह सकते हैं कि रोबोट के अंदर एक कंप्यूटर फिट होता है, जिसमें ये आदेश भरे होते हैं। “

“रोबोट में कुछ विशेष काम करने के लिए आदमियों की तरह उँगलियाँ फिट कर दी जाती हैं। इनसे वे किसी भी वस्तु को पकड़ सकते हैं छोड़ सकते हैं, धक्का दे सकते हैं, घुमा सकते हैं, ऊपर-नीचे कर सकते हैं, दाएँ-बाएँ हिला सकते हैं।”

“रोबोट में कई प्रकार की गति करने की क्षमता होती है। ये हल्के से हल्का और भारी से भारी काम कर सकते हैं। कुछ तो ऐसे भी रोबोट बन चुके हैं, जो वातावरण में होने वाले परिवर्तन के अनुसार अपने को ढाल सकते हैं। कंप्यूटर की सहायता से वे किसी समस्या पर निर्णय भी ले सकते हैं।”

“एक रोबोट तो ऐसा भी बन चुका है, जो हवाई जहाज में पायलट का काम करता है। वह आम उड़ानों पर नियंत्रण रख सकता है। “

“रोबोट दफ्तरों में मेज साफ करते हैं, घरों में कपडे धोते हैं, बिस्तर बिछाते हैं। अब तरह

तरह के काम करने के लिए अलग-अलग प्रकार के रोबोट बनाए जा रहे हैं। बेटे! अब समझ में आ गया होगा कि यह जो खिलौना आपको उपहार में मिला है, वास्तव में क्या चीज है। ” राहुल ने इस अनूठे उपहार के लिए अपने पिता जी को प्रणाम करते हुए धन्यवाद दिया ।

राहुल

के सभी दोस्तों ने भी रोबोट की जानकारी के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।

जन्मदिन की पार्टी की मेज सजी थी। सभी बच्चों ने जल्दी-जल्दी खाना खाया। खाने के बाद सभी बहुत देर तक रोबोट के करतब देखते रहे, उसके साथ खेलते रहे। बच्चे तो बच्चे थे, बड़ों को भी खूब आनंद आया।

अभ्यास के प्रश्न

प्रश्न 1. जन्मदिन के दिन राहुल की दिनचर्या कैसी थी?

उत्तर- जन्मदिन के दिन राहुल की दिनचर्या अत्यंत व्यस्त एवं खुशी भरा था।

प्रश्न 2. रिमोट का बटन दबाने पर रोबोट ने क्या किया?

उत्तर- रिमोट का बटन दबाने पर रोबोट ने सभी को नमस्कार किया।

प्रश्न 3. यदि सभी कार्यालय, कारखानों में रोबोट का उपयोग करें, तो क्या होगा। रोबोट कौन-कौन से कार्य कर सकता है?

उत्तर- सभी कार्यालयों, कारखानों में रोबोट का उपयोग करे तो लगभग सभी व्यक्ति बेरोजगार हो जाएगें एवं मानव आवश्यकता कम हो जाएगी।

रोबोट के कार्य-

(i) गरम वस्तुओं को उठाना एवं रखना कारखानों में।

(ii) गहरे तेल के कुओं और खदानों में, जहाँ जहरीली गैसें होती है। वहाँ आदमियों के बदले रोबोट को भेजा जाता है।

(iii) अंतरिक्ष यात्राओं में रोबोट को भेजा जाता है।

(iv) गहरे समुद्र में गोताखोरी हेतु रोबोट को भेजा जाता है।

प्रश्न 4. मशीनों के आने से हमारे जीवन में क्या फर्क पड़ा है?

उत्तर- मशीनों के आने से छोटे-बड़े कार्य आसान हो गए एवं कार्य क्षमता में बढ़ोत्तरी एवं कम समय में अधिक कार्य होने लगे।

प्रश्न 5. तुम अपने दैनिक जीवन में कौन-कौन सी मशीनों का उपयोग करते हो?

उत्तर- वर्तमान में हम अपने दैनिक जीवन में अनेक प्रकार के मशीनों का उपयोग करते हैं, उदाहरण- वाशिंग मशीन, कम्प्युटर, मिक्सर, कैलकुलेटर, सिलाई मशीन इत्यादि ।

प्रश्न 6. रोबोट व आदमी के कार्यों में क्या अंतर है?

उत्तर- (i) रोबोट एक समय में अनेक कार्य कर सकता है एवं आदमी एक समय में एक ही कार्य करता है।

(ii) रोबोट दिशा निर्देश के आधार पर कार्य करता है। जबकि आदमी स्वयं के विवेक के आधार पर कार्य करता है।

प्रश्न 7. तुम अपना जन्मदिन कैसे मनाते हो अपने शब्दों में लिखो।

उत्तर- हम जन्मदिन की तैयारी सुबह से प्रारंभ कर देते। है, सुबह जल्दी स्नान कर पूजा करते है, शाम होते ही मित्रों के साथ मिलकर केक काटकर जन्मदिन की खुशियाँ मनाते हैं।

गतिविधि-

प्रश्न 1. इन वाक्यों में से विशेषण और उनके विशेष्य शब्दों को चुनकर अलग-अलग लिखो-

(क) खिलौना रोबोट कठिन काम नहीं करता।

उत्तर- विशेषण – कठिन, विशेष्य – काम।

(ख) पिताजी ने अनूठा उपहार दिया।

उत्तर- विशेषण – अनूठा, विशेष्य- उपहार।

(ग) डिब्बे में लाल फीता बँधा था।

उत्तर-विशेषण- लाल, विशेष्य- फीता। • ।

(घ) यह एक बड़ा खिलौना है।

उत्तर- विशेषण-बड़ा, विशेष्य- खिलौना

प्रश्न 3. क्या, क्यों, कैसे, कब शब्दों का प्रयोग करते हुए नीचे लिखे वाक्यों को प्रश्नवाचक वाक्य बनाओ। एक शब्द का एक ही वाक्य में प्रयोग करो।

(क) वह जल्दी उठ गया।

उत्तर- वह जल्दी क्यों उठ गया ?

(ख) शाम को सभी मित्र आ गये।

उत्तर- क्या शाम को सभी मित्र आ गये ?

(ग) संगीत शीघ्र ही बंद हो गया।

उत्तर- संगीत शीघ्र ही कैसे बंद हो गया ?

(घ) तुम सब इसके करतब देखोगे।

उत्तर- तुम सब इसके करतब कब देखोगे ?

प्रश्न 2. देना, जाना, पड़ना, जगना के उचित रूप बनाकर संयुक्त क्रिया के रूप में इनका अपने वाक्यों में प्रयोग करो, उदाहरण देखो-चल देना- मेरी बात का उत्तर न देकर वह चल दिया।

उत्तर- देना- पिताजी ने राहुल को अनोखा उपहार दे दिया।

जाना- हम कल जरूरी काम से दिल्ली चले जायेंगे।

पड़ना- रामू बिस्तर से नीचे गिर पड़ा।

जगना- मोहन डरावना सपना देखकर जाग गया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!