पद्मावत का प्रतीक योजना

पद्मावत‘ को प्रतीकात्मक काव्य कहा जाता है। किंतु यह प्रतीकात्मकता सर्वत्र नहीं है और इससे लौकिक कथा में कोई बाधा नहीं पहुँचती है। पद्मिनी परमसत्ता की प्रतीक है, राजा रतन सेन साधक का, राघव चेतन शैतान का, नागमती संसार का, हीरामन तोता गुरू का, अलाउद्दीन माया का प्रतीक है।

पद्मावत का प्रतीक योजना

  • गुरु का प्रतीक -सुआ
  • श्रद्धा या परमात्मा का प्रतीक- पद्मावती
  • मन / आत्मा का प्रतीक-रत्नसेन
  • हृदय का प्रतीक-सिंहल
  • माया का प्रतीक-अलाउद्दीन
  • शैतान का प्रतीक- राघव चेतन
  • सांसारिक बुद्धि का प्रतीक -नागमती

प्रातिक्रिया दे