नन्ददुलारे वाजपेयी का साहित्यिक परिचय

नन्ददुलारे वाजपेयी (४ सितम्बर १९०६ – २१ अगस्त, १९६७ उज्जैन) हिन्दी के साहित्यकार, पत्रकार, सम्पादक, आलोचक और अंत में प्रशासक भी रहे। इनको छायावादी कविता के शीर्षस्थ आलोचक के रूप में मान्यता प्राप्त है। हिंदी साहित्य: बींसवीं शताब्दी, जयशंकर प्रसाद, प्रेमचन्द : साहित्यिक विवेचन, आधुनिक साहित्य, नया साहित्य: नये प्रश्न आदि इनकी प्रमुख आलोचना पुस्तकें हैं। वे शुक्लोत्तर युग के प्रख्यात समालोचक थे।

नन्ददुलारे वाजपेयी का साहित्यिक परिचय

प्रकाशित कृतियाँ

जयशंकर प्रसाद – १९३९
हिन्दी साहित्य : बीसवीं शताब्दी – १९४२
आधुनिक साहित्य – १९५०
महाकवि सूरदास – १९५३
प्रेमचंद : साहित्यिक विवेचन – १९५४
नया साहित्य : नये प्रश्न – १९५५
राष्ट्रभाषा की कुछ समस्याएँ – १९६१
कवि निराला – १९६५
राष्ट्रीय साहित्य तथा अन्य निबंध- १९६५
प्रकीर्णिका – १९६५
हिन्दी साहित्य का संक्षिप्त इतिहास
आधुनिक काव्य : रचना और विचार
नई कविता – १९७६
कवि सुमित्रानन्दन पंत – १९७६
रस सिद्धांत : नये संदर्भ – १९७७
आधुनिक साहित्य : सृजन और समीक्षा – १९७८
हिन्दी साहित्य का आधुनिक युग – १९७९
रीति और शैली – १९७९
नंददुलारे वाजपेयी रचनावली (आठ खंडों में, संपादक- विजयबहादुर सिंह) – २००८ (अनामिका पब्लिशर्स एंड डिस्ट्रीब्यूटर्स, नई दिल्ली से प्रकाशित)

वाजपेयी जी पर केन्द्रित कृतियाँ

नन्ददुलारे वाजपेयी (विनिबन्ध) – प्रेमशंकर (१९८३) [साहित्य अकादेमी, नई दिल्ली से प्रकाशित]
आलोचक का स्वदेश (जीवनी) – विजयबहादुर सिंह (२००८) [अनामिका पब्लिशर्स एंड डिस्ट्रीब्यूटर्स, नई दिल्ली से प्रकाशित; यह जीवनी ‘नंददुलारे वाजपेयी रचनावली’ के प्रथम खंड में भी यथावत् संकलित है।]

प्रातिक्रिया दे