हिन्दी साहित्य के प्रमुख कहानीकार एवं उनके कहानी/कहानी-संग्रह

हिन्दी साहित्य के प्रमुख कहानीकार

इंशाअल्ला खाँ –रानी केतकी की कहानी

राजा शिवप्रसाद ‘सितारे-हिंद’- राजा भोज का सपना

भारतेंदु -अदभुत अपूर्व सपना

राजा बाला घोष (बंगमहिला) -दुलाईवाली

किशोरीलाल गोस्वामी -इंदुमती, गुलबहार

माधवप्रसाद मिश्र –मन की चंचलता

भगवानदीन -प्लेग की चुड़ैल

रामचंद्र शुक्ल –ग्यारह वर्ष का समय

राधिकारमण प्रसाद सिंह -कानों में कंगना

चंद्रधारी शर्मा गुलेरी –सुखमय जीवन, बुद्धू का काँटा, उसने कहा था

वृंदावनलाल वर्मा– राखीबंद भाई

विश्वंभरनाथ शर्मा ‘कौशिक’ –रक्षाबंधन, ताई, चित्रशाला (दो भाग), गल्प मंदिर, मंगली, प्रेम प्रतिमा, कल्लोल, मणिमाला

मुंशी प्रेमचंद- पंचपरमेश्वर, सौत, बेटों वाली विधवा, सज्जनता का दण्ड, ईश्वरीय न्याय, रानी सारंधा, आत्माराम, बूढी काकी, ईदगाह, पूस की रात, शतरंज के खिलाड़ी, कजाकी, अलग्योझा, तावान, ठाकुर का कुआँ, कफन; सप्त सरोज (कहानी-संग्रह), मान सरोवर-8 भागों में (कहानी-संग्रह)

जयशंकर प्रसाद -ग्राम, छाया (कहानी-संग्रह), इंद्रजाल, आकाशदीप, आँधी, सुनहरा साँप, सालवती, मधुवा, गुंडा, पुरस्कार, चूड़ी वाली नीरा, प्रतिध्वनि, देवरथ

सुदर्शन –सुदर्शन सुधा, तीर्थयात्रा, पुष्पलता, गल्पमंजरी, पनघट, हार की जीत, कवि की स्त्री

चतुरसेन शास्त्री -दुखवा मैं कासों कहूँ मोरी सजनी, अंबपालिका, भिक्षुराज, हल्दीघाटी में, बाणवधू
पाण्डेय बेचन शर्मा ‘उग्र’ -चिनगारियाँ, शैतान मंडली, इंद्रधनुष, बलात्कार, चाकलेट, दोजख की आग, निर्लज्जा, जब सारा आलम सोता है

जैनेंद्र- हत्या, खेल, अपना-अपना भाग्य, जय संधि, बाहुबली, वातायन, नीलम देश की राजकन्या, दो चिड़ियाँ, ध्रुवयात्रा, पाजेब, एक दिन, राजीव और भाभी

‘अज्ञेय’ –विपथगा, त्रिपथगा, परंपरा, कोठरी की बात, शरणार्थी, जयदोल, अमर वल्लरी, ये तेरे प्रतिरूप, रोज, पठार का धीरज, सिगनेलर, रेल की सीटी, कविप्रिया, मैना, हरसिंगार

‘निराला’ –लिली, सुकुल की बीवी, श्रीमती गजानंद देवी, चतुरी चमार, पद्मा
पंत पानवाला

राहुल सांकृत्यायन -सतमी के बच्चे

सुभद्रा कुमारी चौहान –बिखरे मोती, उन्मादिनी, पापी पेट

भगवती चरण वर्मा -इंस्टालमेंट, दो बाँके, उत्तमी की माँ, प्रायश्चित, मुगलों ने सल्तनत बख्श दी, वो दुनिया

‘अश्क’ -मुक्त, देशभक्त, डाची, कांगड़ा का तेली, आकाशचारी, टेबुल लैंड
भुवनेश्वर- सूर्यपूजा, भेड़िए

‘मुक्तिबोध’ -काठ का सपना

इलाचंद्र जोशी –आहुति, धन का अभिशाप, एकांकी चोर, कापलिक, प्रथम कहानी, दिवाली, चरणों की दासी मैं, खँडहर की आत्माएँ, डायरी के नीरस पृष्ठ, आहुति और दिवाली

यशपाल- मक्रील, कुत्ते की पूँछ, फूलों का कुर्ता, पराया सुख, भस्मावृत चिनगारी, पाप का कीचड़, ज्ञानदान, तुमने क्यों कहा कि मैं सुंदर हूँ, पिंजरे की उड़ान

विष्णु प्रभाकर –धरती अब भी घूम रही है, संघर्ष के बाद

‘रेणु’ -ठुमरी, आदिम रात्रि की महक, तीसरी कसम, विघटन के क्षण, तीन बिंदिया

मोहन राकेश -मलबे का मालिक, एक और जिंदगी, जानवर और जानवर, परमात्मा का कुत्ता, खोया हुआ शहर, आर्द्रा, वासना की छाया में, फौलाद का आकाश, रोयें-रेशे

भीष्म साहनी -चीफ की दावत, मौकापरस्त, खून का रिश्ता, वाँग चू, पटरियाँ, भटकती राख

हरिशंकर परसाई –भोलेराम का जीव, निठल्ले की डायरी, एक फरिश्ते की कथा

शिवप्रसाद सिंह-आरपार की माला, मुर्दा सराय, इन्हें भी इंतजार है, कर्मनाशा की हार

निर्मल वर्मा- परिंदे, लवर्स, लंदन की एक रात, डेढ़ इंच ऊपर, कुत्ते की मौत, अँधेरे में, जलती झाड़ी, माया-दर्पण, धूप का एक टुकड़ा, पोस्टकार्ड, बीच बहस में

कमलेश्वर –राजा निरबंसिया, युद्ध, एक अश्लील कहानी, नीली झील, जार्ज पंचम की नाक, देवा की माँ, मांस का दरिया, बयान जो लिखा नहीं जाता, एक रुकी हुई जिंदगी

कमल जोशी -शीराजी, पत्थर की आँखें

राजेंद्र यादव -जहाँ लक्ष्मी कैद है, प्रतीक्षा, छोटे-छोटे ताजमहल, एक दुनिया समानांतर, लहरें और परछाइयाँ, टूटना तथा अन्य कहानियाँ, एक कमजोर लड़की की कहानी, अभिमन्यु की आत्मकथा

शेखर जोशी -कोसी का घटवार, बदबू, दाज्यू

अमरकांत- जिंदगी और जोंक, डिप्टी कलेक्टरी

मार्कण्डेय –गुलरा के बाबा, हंसा जाई अकेला, महुए का पेड़, सेमल का फूल, साबुन

धर्मवीर भारती- गुलकी बन्नो, सावित्री नं० 2, बंद गली का आखिरी मकान, चाँद और टूटे हुए लोग, मुर्दों का गाँव

नरेश मेहता -निशा जी, तथापि, एक समर्पित महिला

सर्वेश्वर-पागल कुत्तों का मसीहा, अँधेरे पर अँधेरा

मन्नू भंडारी- मैं हार गई, तीन निगाहों की एक तस्वीर, यही सच है, एक प्लेट पुलाव, रानी माँ का चबूतरा, गीत का चुंबन

उषा प्रियंवदा-जिंदगी और गुलाब के फूल, चाँदनी में बर्फ पर, मछलियाँ, कितना बड़ा झूठ, एक कोई दूसरा, वापसी

कृष्णा सोबती –यारों के यार, बादलों के घेरे, तिन पहाड़, ऐ लड़की
ज्ञानरंजन बहिगर्मन, घंटा, पिता, फेंस के इधर और उधर

गंगाप्रसाद ‘विमल’ –एक और विदाई, प्रश्नचिह्न

ज्ञानप्रकाश –अँधेरे के सिलसिले

महेंद्र भल्ला- एक पति के नोट्स, तीन-चार दिन

काशीनाथ सिंह- चायघर में मृत्यु, चोट, हस्तक्षेप

मंजुल भगत –सफेद कौआ

गिरिराज किशोर- गाउन, पेपरवेट, चिड़ियाघर, अलग-अलग कद के दो आदमी, फ्राक वाला घोड़ा

उदय प्रकाश- दरियाई घोड़ा, तिरीछ, और अंत में प्रार्थना, पॉल गोमरा का स्कूटर, दत्तात्रेय का दुःख, अरेबा-परेबा, मैंगोसिल; मोहनदास; पीली छतरी वाली लड़की, वारेन हेस्टिंग्स का सांड़

प्रातिक्रिया दे