हिन्दी साहित्य वस्तुनिष्ठ प्रश्न

हिन्दी साहित्य वस्तुनिष्ठ प्रश्न



1 अपना मस्तक काटिकै बीर हुआ कबीर — *दादूदयाल*
2 सन्त सिंगा की भाषा— *निमाड़ी*
3 हमेशा दुल्लहे की पोशाक में— *रज्जब*
4 ज्ञानदीप—- *शेख़ नवी*
5 सबसे बड़ा आदमी एकांकी — *भगवतीचरण वर्मा*
6 राजतुल हकायक — *नूर मोहम्मद*
7 अंत हाज़िर हो — *मीरकान्त*
8 छायावाद का ब्रह्मा– *प्रसाद*
9 अस्टछाप के ज्येष्ठ कवि– *कुम्भनदास*
10 छायावाद का विष्णु– *पन्त*
11 अष्ठछाप के संस्थापक—विट्ठलनाथ
12 छायावाद का महेश– *निराला*
13 सूफ़ी महिला– *राबिया*
14 चारुचंद्र लेख— *हज़ारी*
15 औरत होने की सजा– *अरविन्द जैन*
16 अनामिका– *निराला*
17 मिल-जुल मन– *मृदुला गर्ग*
18 मुहावरों की पाठय पुस्तक– *देवबाला*
19 पत्रात्मक शैली का उपन्यास– *चंद हसीनों के खतूत*
20 फ़ोटो नाटक– *चढ़त ना दूजो रंग*
21 अनल कवि– *दिनकर*
22 अवध का किसान– *त्रिलोचन*
23 मुनि मार्ग के हिमायती– *शुक्ल*
24 खड़ी बोली के समर्थकों को ‘हठी व मुर्ख’ कहा– *जग्गन्नाथ दास रत्नाकर*
25 कठगुलाब— *मृदुला गर्ग*
26 आओ पे पे घर चले— *प्रभा खेतान*
27 स्त्री लेखन का प्रस्थान बिंदु– *मित्रो मरजानी*
28 कुइयाजान– *नासिरा शर्मा*
29 हसिनाबाद– *गीताश्री*
30 क्षयी रोमांस का कवि– *बच्चन सिंह*
31 बहुत हमने फैलाया धर्म ,बढाया छूआछूत का कर्म — *भारतेन्दु*
32 “आठ मास बीते जजमान,अब तो करो दक्षिणा दान– *प्रताप नारायण मिश्र*
33 स्नेह निर्झर बह गया है,रेत सा तन गया है– *निराला*
34 दिवस का अवसान समीप था,गगन था कुछ लोहित हो चला– *हरिऔध*
35 रामचरित मानस का पंचम काँड— *सुंदर काँड*
36 प्रथम रश्मि का आना रंगिणि!तूने कैसे पहचाना– *सुमित्रानंदन पंत*
37 मांसलवाद के प्रवर्तक– *रामेश्वर शुक्ल अंचल*
38 रागदरबारी की कथा– *शिवपाल गंज गाँव*
39 छंदों का अजायबघर– *रामचन्द्रिका*
40 छपय्यो का राजा– *चंदरबरदाई*
41 श्लेष का बादशाह– *सेनापति*
42 हरिगीतिका का बादशाह– *मैथिलीसरण गुप्त*
43 अष्ठछाप कवि- कुम्भनदास, कृष्णदास,सूरदास,परमानन्द दास,गोविन्दस्वामी,छीतस्वामी,नँददास,चतुर्भुज दास
44 कठिन काव्य का प्रेत– *केशव*
45 अष्ठछाप की स्थापना– *1565*
46 द्वेताद्वेत— *निम्बार्कचार्य*
47 अद्वेतवाद– *शंकराचार्य*
48 सुर भक्ति– *साख्य भाव*
49 मीरा भक्ति— *माधुर्य भाव*
50 तुलसीदास भक्ति– *दास्य भाव*
51 ठहरा हुआ पानी (नाटक)– *शांति मेहरोत्रा*
52 मॉरीशस प्रेमचंद— *अभिमन्यु अनन्त*
53 ‘आधुनिक मीरा– *महादेवी वर्मा*
54 शुक्ल की त्रिवेणी– *सुर,जायसी,तुलसी*
55 साक्षात रसमूर्ति– *घनानन्द*
56 हिन्दू जाति का प्रतिनिधि कवि– *भूषण*
57 निबंध सम्राट— *शुक्ल*
58 उपन्यास सम्राट– *प्रेमचंद*
59 जीवन उत्सव का कवि– *सूरदास*
60 एक भारतीय आत्मा–माखनलाल चतुर्वेदी
61 (2017) व्यास पुरस्कार– *ममता कालिया*
62 दुःखम-सुखम– *ममता कालिया*
63 (2017) ज्ञानदीठ पुरस्कार– *कृष्णा सोबती*
64 (2017) साहित्य अकादमी पुरस्कार— *रमेश कुंतल मेघ*
65 गेहूं और गुलाब– *बेनीपुरी*
66 कुकुकुरमुता– *निराला*
67 घनानन्द की प्रेमिका– *सुजान*
68 आलम की प्रेमिका– *शेख़ रँगरेजीन*
69 महाअंधेर नगरी– *विजयानन्द त्रिपाठी*
70 नहुष–” *गोपालचंद्र गिरिधर दास”*
71 मैला आँचल— *1954*
72 पन्त का जन्म— *1900*
73 प्रसाद जन्म—1889
74 सहज प्रकाश’— *सहजोबाई*
75 उज्जवलनीलमणि’— *रूपगोस्वामी*
76 ’सेठ बांकेमल– *अमृतलाल नागर*
77 ’वारेन हेस्टिंग्स का सांड़’ कहानी — *उदय प्रकाश*
78 छायावाद का पतन’ — *डा0 देवराज*
79 अनुराग बॉंसुरी’ — *नूर मोहम्मद*
80 ’नैन नचाय कही मुसुकाय लला फिर आइयो खेलन होरी’ — *पद्माकर*
81 ’कटरा बी आरजू’—- *राही मासूम रजा*
82 कनक कदलि पर सिंह समारल ता पर मेरु समाने’ पंक्तिकार— *विद्यापति*
83 साहित्य जन-समूह के हृदय का विकास– *बालकृष्ण भट*
84 सारा लोहा उन लोगों का अपनी केवल धार’ पंक्तिकार–*अरुण कमल*
85 ’दुःखों के दागों को तमगों सा पहना’—- *मुक्तिबोध*
86 ’नया साहित्य नये प्रश्‍न *’–नन्द दुलारे वाजपेयी*
87 ’भाग्यवती’ के लेखक— *श्रद्धाराम फुल्लौरी*
88 मुक्त छंद के प्रणेता *–सूर्यकांत त्रिपाठी निराला*
89 ’अभिनव जयदेव’ *विद्यापति*
90 आवत जात पनहियॉं टूटीं बिसरि गयो हरि नाम– *कुम्भनदास*
91 ’दिल्ली का दलाल’ — *पाण्डेय बेचन शर्मा ’उग्र’*
92 आधुनिक युग का सबसे युगान्तकारी कवि — *सूर्यकांत त्रिपाठी निराला*
93 मैथिली शरण गुप्त के बाद राष्ट्र कवि— *रामधारी सिंह दिनकर*
94 (अणु भाष्य) अधूरे ग्रन्थ को पूरा किया– *विट्ठलनाथ ने*
95 “बसंत का अग्रदूत” —- *निराला*
96 निहार की भूमिका– *हरिऔध*
97 अज्ञेय का साहित्यिक गुरू— *मैथिलीशरण गुप्त*
98 गिरिजाकुमार के संग्रह मंजीर की भूमिका —- *निराला*
99 “गउडबहो—- *वाकपतिराज*
100 रसवादी आलोचक—नगेन्द्र*
101 सम्प्रेषण सिद्धान्त— *टी. एस. इलियट*
102 द डिफेंस ऑफ पोइट्री–पी. बी. शैली*
103 उदात्त तत्व— *लोंजाइनस*
104 अपभ्रंश का प्रिय छंद— दोहा
105 सूफ़ियों का प्रिय अलंकार– *समासोक्ति*
106 अवधी,बघेली,छत्तीसगढी— *पूर्वी हिंदी*
107 भविस्यतकहा का सम्पादन– *डॉ. याकोबी*
108 उक्ति व्यक्ति प्रकरण– *व्याकरणशास्त्र*
109 प्राकृत पैंगलम— *छन्दशास्त्र*
110 रागदरबारी की कथा— *शिवपाल गंज गाँव*
111 गोदान की कथा— *बेलारी गाँव*
112 झूठा-सच (प्रथम भाग)– *वतन ओर देश*
113 झूठा-सच (दूसरा भाग)– *देश का भविष्य*
114 विद्यापति पदावली का सम्पादन— *बेनीपुरी*
115 मैला आँचल की कथा— *मेरीगंज गाँव*
116 सबसे ज़्यादा प्रबध काव्य– मैथलीशरण गुप्त*
117 श्रान्त पथिक— *श्रीधर पाठक*
118 अनाम तुम आते हो— *भवानी प्रसाद मिश्र*
119 गोवध निवारण की भावना — *निसहाय हिन्दू*
120 चीफ की दावत— *भीष्म साहनी*
121 प्रेमचंद की अंतिम *प्रसिद्ध कहानी—* *कफ़न*
122 मानसरोवर के भाग– *8*
123 प्रसाद की कुल कहानियां– *69*
124 छायावाद की समर्थक पत्रिका— *माधुरी*
125 “वियोगी होगा पहला कवि आह से उपजा होगा गान” — *पन्त*
126 भूतनाथ उपन्यास — *देवकीनंदन खत्री*
127 चंद्रकांता सन्तति के भाग— *24*
128 न भूतो न भविष्यत— *नरेंद्रर कोहली*
129 आम के पत्ते– *रामदरश मिश्र*
130 बेरंग बेनाम चिठिया— *रामदरश मिश्र*
131 दुष्चक्र में स्रसटा— *वीरेन डंगवाल*
132 पत्थर फेंक रहा हूँ– *चन्द्रकान्त देवताले*
133 हवा में हस्ताक्षर — *कैलाश वाजपेयी*
134 “अंतिम अरण्य”—निर्मल वर्मा
135 अंगवधू के संकलनकर्ता — *रज्जब*
136 ‘खटमल बाइसी’— *अली मुहिब खां प्रितम*
137 इन्ना की आवाज नाटक—– *असगर वजाहत*
138 पढो फ़ारसी बेचो तेल —- *नाग बोडस*
139 कोर्ट मार्शल —- *स्वदेश दीपक*
140 काला पहाड़ —- *_भगवान् दास मोरवाल_ *
141 काली आंधी — *कमलेश्वर*
142 मछली मरी हुई उपन्यास का केन्द्रीय विषय — *स्त्री समलैंगिकता*
143 बेकन विचारमाला—– *महावीर प्रसाद द्विवेदी*
144 रसा उपनाम – *भारतेंदु जी*
145 अब्र उपनाम – *प्रेमघन जी*
146 त्रिशूल उपनाम – *गया प्रसाद शुक्ल सनेही*
147 जकी – **जगन्नाथ रत्नाकर*
148 मुर्दों का टीला— *रांगेय राघव*
149 आधुनिक काल का *तुलसी* व *सूर* किसे कहा गया?
तुलसी- मैथिलीशरण गुप्त
सूर- अयोध्या सिंह उपाध्याय “हरिऔध”
हिन्दी।।

प्रातिक्रिया दे