सजीवों के लक्षण एवं वर्गीकरण कक्षा 6 विज्ञान पाठ 7

सजीवों के लक्षण एवं वर्गीकरण

स्मरणीय बिन्दु

1. हमारे चारों ओर बहुत-सी सजीव व निर्जीव वस्तुएँ हैं।

 2. सजीव श्वसन, उत्सर्जन, गति, वृद्धि, प्रजनन करते हैं तथा उसमें संवेदनशीलता होती है।

3. पौधों को चार श्रेणियों में बाँटा गया है-(1) शाक (2) झाड़ी (3) वृक्ष (4) आरोही या बेल या लता।

4. जिन जन्तुओं में रोड़ को हड्डी होती है उन्हें कशेरुको जन्तु कहते हैं, जैसे- मनुष्य, गाय, बकरी।

 5. जिन जन्तुओं में रीढ़ की हड्डी नहीं होती, उन्हें अकशेरुकी जन्तु कहते हैं, जैसे-मच्छर, तितली, मकड़ी।

6. सभी सजीव अपने हो समान जीवों को उत्पन्न करते हैं. इसे प्रजनन कहते हैं।

 7  संसार का सबसे बड़ा जन्तु ब्लू बोल है।

8. ऐसे जन्तु एवं पौधे जो जल में पाये जाते हैं, उन्हें जलीय जीव कहते हैं, जैसे–मछली, कमल आदि।

 9. मरुस्थल में पाये जाने वाले जन्तु एवं पौधे मरुस्थलीय कहलाते हैं, जैसे-ऊँट, नागफनी

10. पौधे एवं जन्तुओं का वैज्ञानिक नाम होता है। 

11. कुछ जीव अत्यन्त सूक्ष्म होते हैं। जिन्हें सूक्ष्मदर्शी द्वारा हो देखा जा सकता है, उदाहरण अमीबा, पैरामिशियम, युग्लीना आदि।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!