कार्बन कक्षा 8 वीं विज्ञान अध्याय 6

महत्वपूर्ण बिन्दु

  • कार्बन एक अधात्विक तत्व है जिसे काजल या चारकोल के नाम से जानते हैं।
  • कार्बन कई रूपों में पाया जाता है जिनके भौतिक गुण अलग-अलग परंतु रासायनिक गुण समान होते हैं इसे अपरूपता कहते हैं।
  • अपरूप के रूप में हीरा, ग्रेफाइट, कोयला, चारकोल, काजल आदि पाये जाते हैं।
  • कार्बन के अलावा सल्फर, टिन व फॉस्फोरस भी अपरूपता प्रदर्शित करते हैं।
  • फुलेरीन कार्बन का नया अपररूप 1985 में बनाया गया इसमें कार्बन के 60 अणु जुड़े होते हैं।
  • ग्रेफाइट को अत्यधिक उच्च ताप तक गर्म कर बनाया गया।
  • हीरा बहुमूल्य रत्न है। इसकी चमक के कारण इसे ये स्थान मिला है। इसका उपयोग काँच काटने में भी होता है।
  • ग्रेफाइट क्रुसीबल, इलेक्ट्रोड, काली पेंट, स्याही व पेंसिल में उपयोग लाई जाती है।
  • प्रकृति में संयुक्त रूप में कार्बन कार्बोनेट, कार्बोहाइड्रेट, वसा, प्रोटीन व विटामिन के रूप में मिलता है।
  • कार्बन और हाइड्रोजन भिन्न-भिन्न अनुपातों में संयुक्त होकर हाइड्रोकार्बन बनाते हैं।
  • जलने वाले पदार्थ दहनशील व नहीं जलने वाले अदहनशील पदार्थ कहलाते हैं।
  • दहन ऑक्सीकरण क्रिया है इससे प्रकाश व ऊष्मा विमोचित होती है।
  • ज्वाला में तीन क्षेत्र होते हैं- (a) भीतरी गहरा क्षेत्र, (b) मध्य चमकीला क्षेत्र, (c) हल्के नीले रंग का बाहरी क्षेत्र।
  • CO, का उपयोग प्रशीतकों में, अग्निशमन में, शीतल पेय में होता है।
  • CO2 को ही शुष्क बर्फ के रूप में उपयोग करते हैं।
  • Na, CO, पर नींबू के रस की क्रिया से CO, प्राप्त की जाती है। इसकी प्रकृति अम्लीय है।
कार्बन कक्षा 8 वीं विज्ञान अध्याय 6 - ALm5wu13B7gbxRKGOfWO4ps52o 5iVl9cr9Oa OxBshX=s40 p - हिन्दी माध्यम में नोट्स संग्रहReplyForward

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!