अंतः सलीला कामायनी पर वस्तुनिष्ठ प्रश्न

अंतः सलीला कामायनी पर वस्तुनिष्ठ प्रश्न



1. अंतः सलीला के रचनाकार हैं-
1. अज्ञेय✔
2. मुक्तिबोध
3. पंत
4. महादेवी वर्मा

2. अंतः सलीला का रचनाकाल है-
1. 1957 ई.
2. 1958 ई.
3. 1959 ई.✔
4. 1960 ई.

3. अंतः सलीला किस रेलयात्रा के दौरान लिखी गई-
1. दिल्ली से इलाहाबाद
2. आगरा से इलाहाबाद
3. आगरा से दिल्ली
4. इलाहाबाद से दिल्ली✔
5. इलाहाबाद से आगरा

4. जिस तरह रेत को कुरेदने पर गड्ढा नदी के रिसने वाले पानी से भर जाता है, उसी तरह अंतः सलिला को कुरेदने पर……..
1. आँसू बहने लगते हैं
2. दुख प्रकट होने लगता है
3. मन उदास हो जाता है
4. उपरोक्त सभी✔

5. असंगत है-
1. रेत की शुष्कता – मन की शुष्कता
2. रेत के कारण धारा का सूखना – मन की शुष्कता के कारण अंतः सलिला का खोना
3. राहगीर का धन – मन का दुखरूपी धन
4. अनजान पथिक – आंसुओं की धारा✔

6. कामायनी का रचनाकाल है-
1. 1934 ई.
2. 1935 ई.
3. 1936 ई.✔
4. 1937 ई.

7.कामायनी में सर्गों की संख्या-
1. 13
2. 14
3. 16
4. इनमें से कोई नहीं✔

8. मानव के अग्रजन्मा देव कैसे थे-
1. चिर-किशोर-वय
2. नित्यविलासी
3. आत्म-मंगल-उपासक
4. उपरोक्त सभी✔

9. देवों का व्यवहार, प्रकृति सहन न कर सकी और उसने अपना प्रतिशोध किस प्रकार लिया-
1. भीषण जलप्लावन
2. देवों का विनाश
3. 1 व 2 दोनों✔
4. इनमें से कोई नहीं

10. कौन सा सर्ग कामायनी का नहीं है-
1. निर्वेद
2. संघर्ष
3. रहस्य
4. धर्म✔

11. अंतिम सर्ग कौन सा है-
1. वासना
2. काम
3. स्वप्न
4. इनमें से कोई नहीं✔

12. शतपथ ब्राह्मण के अनुसार मनु के विषय में असत्य कथन है-
1. भारतीय इतिहास के आदिपुरूष हैं
2. राम, कृष्ण और बुद्ध इन्हीं के वंशज हैं
3. श्रद्धादेव हैं
4. स्थिर मानसिक प्रवृत्ति वाले हैं अर्थात संगत का प्रभाव नहीं पड़ता✔

13. श्रद्धा के विषय में असत्य कथन है-
1. कामगोत्र की कन्या है
2. कामायनी भी कहा जाता है
3. गांधार देश की है
4. बुद्धि का प्रतीक है✔

14. इड़ा के विषय में असत्य कथन है-
1. देवताओं की कन्या हैं ✔
2. मेधसवाहिनी नाड़ी भी कहा जाता है
3. पृथ्वी, बुद्धि, वाणी का पर्यायवाची है
4. मानव चेतना प्रदान करने वाली है

15. मनु को किसने कहा-“मैं तुम्हारी दुहिता हूँ”
1. श्रद्धा ने✔
2. इड़ा ने
3. 1व2 दोनों ने
4. किसी ने नहीं

16.”कामायनी एक पुनर्विचार” किनकी रचना है-
1. जयशंकर प्रसाद
2. डाॅ नगेन्द्र
3. प्रभाकर श्रोत्रिय
4. मुक्तिबोध✔

17. किस समीक्षक ने कामायनी को “मानव चेतना का महाकाव्य” कहा है-
1. अज्ञेय
2. डाॅ नगेन्द्र✔
3. प्रभाकर श्रोत्रिय
4. मुक्तिबोध

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!