आधुनिकयुगस्य आविष्कारा: कक्षा छठवीं विषय संस्कृत पाठ 8

कक्षा छठवीं विषय संस्कृत पाठ 8 आधुनिकयुगस्य आविष्कारा:

1. शीतलकं यन्त्रम्

अधुना विज्ञानेन अति उन्नितः कृतः। तेषु शीतलकं यन्त्र प्रथममस्ति । जनाः अस्य महतीं आवश्यकतां प्रतिगृहम् अनुभवन्ति। ग्रीष्मकाले च अस्य महती उपयोगिता परिलक्ष्यते।

शब्दार्था:- ‘अधुना = = अब, अति= बहुत, कृतः = किया है, तेषु = उनमें, शीतलकं = फ्रीज यन्त्र, प्रथमं = पहला, महती = बड़ी, प्रतिगृहम् = प्रत्येक घर में, अस्य इसकी, परिलक्ष्यते = दिखाई देती है।

अनुवाद -इस समय (अब) विज्ञान ने बहुत उन्नति किया है। उनमें शीतलक यन्त्र (फ्रीज यन्त्र) पहला है। प्रत्येक घर में लोग इसकी बड़ी आवश्यकता अनुभव करते हैं और ग्रीष्मकाल (गर्मी की ऋतु) में इसकी बहुत उपयोगिता दिखाई देती है।

2. सङ्गणकयन्त्रम्

अस्मिन् युगे संगणक यत्वस्य उपयोगः सर्वेषु क्षेत्रेषु दृश्यते। अनेन यन्त्रेण क्रान्तिकारि परिवर्तनम् अभवत् । अद्य शिक्षाक्षेत्रे अस्य महती आवश्यकता वर्तते। देशविदेशानां समाचारं इन्टरनेट माध्यमेन प्रेषयितुं समर्थः अयं सङ्गणकः । अधुना सङ्गणकस्य उपयोगिता वर्तते।

शब्दार्था:- अस्मिन् = इस, युगे =युग में, सर्वेषु = सभी, क्षेत्रेषु = क्षेत्रों में, दृश्यते = दिखाई देता है, अद्य = आज, महती = बड़ी, सङ्गणक := कम्प्यूटर, वर्तते = है, प्रेषयितुं =भेजने में, अयं= यह, 

अनुवाद – इस युग में संगणक यन्त्र (कम्प्यूटर) का उपयोग सभी क्षेत्रों में दिखाई देता है। इस यन्त्र से क्रान्तिकारी परिवर्तन हुआ है। आज शिक्षा के क्षेत्र में इसकी बड़ी आवश्यकता है। देश-विदेश के समाचार इन्टरनेट के माध्यम से भेजने में समर्थ यह संगणक यन्त्र है। इस समय संगणक की उपयोगिता है।

3. वायुयानम्

एतद् वायुयानम् अस्ति । वायुयानम् शीघ्रगामि भवति । अति जगत्या गगने उड्डयति जनाः अनेन वायुयानेन दूरस्थानपर्यनुं शक्नुवन्ति।

शब्दार्था :- वायुयानम् = हवाई जहाज, द्रुतगत्या = तेज़ गति से, गगने= आकाश में, उड्डयति= उड़ता है, जनाः = लोग, पर्यन्तं = तक, गन्तुं शक्नुवन्ति = जा सकते हैं।

अनुवाद – यह वायुयान (हवाई जहाज) है। वायुयान शीघ्रगामी होता है। बहुत तेज गति से आकाश में उड़ता है। लोग इस वायुयान से दूर स्थान तक जा सकते हैं।

4. दूरदर्शनम्

सम्पर्क साधनेषु दूरदर्शनम् अत्याधुनिक साधनम् अस्ति । प्रतिदिनं वयं नूतनसमाचारं प्राप्नुमः । विविधविषयाणां सूचन दूरदर्शन सूचयति यथा क्रीडा शिक्षा विज्ञान कृषि व्यवस दीनां विषयाणां समाचारः शीघ्रमेव जनैः प्राप्तुं शक्यते ।

शब्दार्था:- नूतन = नया, प्राप्नुमः= प्राप्त करते हैं, यथा = जैसे, क्रीड़ा = खेल, जनै: = लोग, शक्यते= सकते हैं।

अनुवाद-सम्पर्क साधनों में दूरदर्शन आत्याधुनिक साधन है प्रतिदिन हम सब नूतन (नया) समाचार प्राप्त करते हैं। विविध विषयों की सूचना दूरदर्शन सूचित करता है, जैसे-खेल, शिक्षा विज्ञान, कृषि, व्यापार आदि विषयों के समाचार अतिशीघ्र लोग प्राप्त कर सकते हैं।

5. रेडियोयन्त्रम्

रेडियो यन्त्रेण विविध समाचाराः भाषणानि गीतानि च श्रूयन्ते अस्माभिः अनेन यन्त्रेण अनेके शैक्षणिक कार्यक्रमाः वैज्ञानिक प्रयोगाः च जायते।

शब्दार्था:- विविध = अनेक (विविध), श्रूयन्ते= सुनते हैं, गौतानि = गीतों को, अस्माभि= हम, अनेन= इस यन्त्रेण = मशीन से, ज्ञायन्ते =ज्ञात करते हैं।

अनुवाद-रेडियो यन्त्र से विविध समाचारों भाषणों और गीतों को सुनते हैं। हम सब इस यन्त्र से अनेक शैक्षणिक कार्यक्रम और वैज्ञानिक प्रयोग ज्ञात करते हैं।

6. चलितदूरभाषयन्त्रम् 

एतद् आधुनिकं चलित दूरभाषयन्त्रम् (मोबाइल) येन माध्यमेन कस्मिंश्चिदपि स्थाने विद्यमानाः जनाः स्वमित्रैः सह वार्तालापं कर्तुं शक्नुवन्ति । अस्य यन्त्रस्य ध्वनिः अतिमधुरा प्रतीयते। (जनाः) एतद् यन्त्रं कोटरिकायां स्थापयन्ति । कोटरिकायाः बहिः निः सायं कर्णस्थले आनीय जनैः स्वजनेन, स्वमित्रेण, स्वबन्धुना च वार्तालापः क्रियते । अस्य यन्त्रस्य उपयोगिता अधुना सर्वेषु क्षेत्रेषु अनवरतं भवति ।

शब्दार्था:- चलित दूरभाषयन्त्रम् = मोबाइल, येन= जिसके, (सह = साथ, ‘वार्तालापं = बातचीत, प्रतीयते = प्रतीत होती है, कोटरिकायां = जेब में, निःसार्य= निकाल कर, अनवरतं= लगातार, क्रियते =करते हैं। 

अनुवाद – यह आधुनिक चलित दूरभाष यन्त्र (मोबाइल) है जिसके माध्यम से किसी भी स्थान पर विद्यमान लोग अपने मित्रों के साथ बातचीत कर सकते हैं। इस यन्त्र की ध्वनि (आवाज) अत्यधिक मधुर लगती है। (लोग) इस यन्त्र को जेब में रखते हैं। जेब से बाहर निकाल कर कान के पास लाकर लोग अपने लोगों, अपने मित्रों और अपने भाई से वार्तालाप करते हैं। इस यन्त्र का उपयोग अब सभी क्षेत्रों में अनवरत (लगातार) हो रहा है।

वयं अनेन यन्त्रमाध्यमेन लिखित संदेशं अभिनन्दनपत्रं च प्रेषयितुं शक्नुमः । बालक-बालिकाश्च क्रीडन्तः आनन्दमनु भवन्ति । एतद् यन्त्रम् इन्टरनेट माध्यमेन अभिनन्दनपत्रं, शोकपत्रं, संदेशपत्रं अन्यं महत्वपूर्ण समाचारं प्रेषयितुं समर्थम् । अधुना अस्य यन्त्रस्य अति उपयोगितास्ति । अतः एतद् यन्त्रं लोकप्रियम् अस्ति

शब्दार्थाः- वयं = हम सब, क्रीडन्त: =खेलते हुए, एतद् = यह अधुना= अब (आजकल), अतः इसलिए।

अनुवाद- हम सब इस यन्त्र के माध्यम से लिखित संदेश और अभिनन्दन पत्र को भेज सकते हैं। बालक-बालिकाएँ खेलते हुए आनन्द का अनुभव करते हैं। यह यन्त्र इन्टरनेट के माध्यम से अभिनन्दन पत्र (ग्रीटिंग कार्ड), शोक-पत्र, संदेश-पत्र और अन्य महत्त्वपूर्ण समाचार को भेजने में समर्थ हैं। इस समय इस यन्त्र की बहुत उपयोगिता है। अतः यह यन्त्र लोकप्रिय है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!