आधेअधूरे, अंधा युग और स्कंदगुप्त प्रश्नोत्तरी

आधेअधूरे, अंधा युग और स्कंदगुप्त प्रश्नोत्तरी

१. आधे अधुरे का रचना वर्ष है?
1958
1963
1969✔
1970

२. अंधा युग में कितने अंक हैं?
5✔
6
7
8

३.”अश्वत्थामा का अर्ध सत्य” कौन सा अंक है?
4
3✔
5
6

४.संजय का चित्रण किस रूप में किया गया है?

धुरी
रथ
पहिया✔
पंख


५. आधे अधुरे के संदर्भ में गलत कथन है?
१. महेंद्र नाथ सावित्री से प्रेम करता है.
२. पुरूष 3 का 5000 रूपये कमाता था.✔
३. सावित्री शिवजीत से प्रेम करती थी.
४. उपरोक्त सभी.


६.अंधा युग में कृष्ण को मर्यादाहीन कूटबुद्धि किसने कहा?
गांधारी
धृतराष्ट्र
युयुत्सु
बलराम✔


७. “आधे अधूरे” नाटक किस शहर से आधारित है
कानपुर
लखनऊ
दिल्ली✔
आगरा

८. आधे अधूरे नाटक में किस पात्र को साहित्यिक गतिविधियों में रुचि थी ?
जुनेजा
जगमोहन
सिंघानिया ✔
अशोक

९.किसने प्रभु की मृत्यु को कायर मरण कहा है?
अश्वत्थामा
युयुत्सु✔
वृद्ध व्याध
संजय


१०.अंधा युग में पात्रों की संख्या है?
15
16✔
17
18


११.”विश्व भर की शांति रजनी का मैं ही धूमकेतु हूँ ” किसका कथन है?
स्कंदगुप्त✔
भटार्क
प्रपंचबुद्धि
सर्वनाग


१२.”निर्लज्ज हार कर भी नहीं हारता ,मर कर भी नहीं मरता” कथन किसके लिए है?
भटार्क
विजया✔
स्कंदगुप्त
देवसेना


१३. “अरे जड़, मूक-बधिर ,प्रकृति के टीले” यह कथन किसका है?
चक्रपालित
भीमवर्मा
सर्वनाग✔
धातुसेन



१४.अंधा युग में कौन सा पात्र अपने आपको कर्म लोक से बहिष्कृत मानता है?
संजय
अश्वत्थामा
विदुर
युयुत्सु✔


१५. स्कंदगुप्त का समय कब मानी जाती है?
4 सदी
5 सदी✔
6 सदी
7 सदी


१६. “रसानुभूति के अनंत प्रकार नियम बद्ध उपायों से नहीं प्रदर्शित किए जाते “किसका कथन है?

ओम शिवपुरी
जयशंकर प्रसाद✔
धर्मवीर भारती
मोहन राकेश



१७.स्कंद गुप्त की कथावस्तु कितने दृश्यों में में में में प्रस्तुत की गई है?
32
34
35
33✔

१८. स्कंद गुप्त में कुल कितने गीत हैं?
11
13
15✔
17


१९. विजया और देवसेना का शमशान भूमि में मिलन होती है:

3 अंक व 5 दृश्य
4 अंक व 5 दृश्य
3 अंक व 2 दृश्य ✔
4 अंक व 3 दृश्य


२०.”मुद्राराक्षस” किसकी अनुदित नाटक है?
जयशंकर प्रसाद
धर्मवीर भारती
भारतेन्दु हरिश्चन्द्र✔
महावीर प्रसाद द्विवेदी

प्रातिक्रिया दे